23 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

नैंसी हत्याकांड मामले में चौंकाने वाला खुलासा : चाचा राघवेंद्र, पंकज भेजे गए जेल !

फाइल फोटो

फाइल फोटो

मधुबनी से दीक्षा रानी के संग अभिजित कुमार की रिपोर्ट
7 जून 2017

नैंसी हत्याकांड मामले में नया मोड़ आ गया है। SIT की टीम ने इस मामले में नैंसी के चाचा राघवेंद्र और पंकज झा को गिरफ्तार कर लिया है। हम आपको बता दें की SIT की टीम इस मामले में एक-एक पहलू की जांच कर रही है। इस सिलसिले में परिवार के सदस्यों से भी पूछताछ की गई। मधुबनी के एसपी ने कहा है कि इस हत्याकांड में नैंसी के दोनों चाचा पंकज झा और राघवेंद्र झा का नाम भी शामिल है। पुलिस का दावा है कि राघवेंद्र और पंकज ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। बताया जाता है कि नैंसी की बुआ का किसी के साथ प्रेम संबंध था और इस बात की जानकारी नैंसी को भी हो गई थी।

इस बीच में नैंसी की बुआ की शादी कहीं और तय कर दी गई। पुलिस के मुताबिक नैंसी के चाचा को लगा कि नैंसी कहीं ये बात किसी को कह ना दे और इस लिए उन्होंने ही नैंसी को अगवा कर लिया। हम आपको बता दें कि नैंसी को 25 मई को अगवा किया गया जबकि नैंसी के बुआ की शादी उसके अगले दिन यानि 26 मई को होनी थी। पुलिस की थ्योरी के मुताबिक नैंसी के दोनों चाचा ने मिलकर नैंसी की हत्या कर दी और इसके बाद बहन की शादी भी कराई। शादी संपन्न कराने के अगले दिन यानि 27 मई को नैंसी का शव नदी के किनारे पर फेंक दिया गया।

नैंसी हत्याकांड मामले में सोशल मीडिया पर #jUSTICE4Nancy के नाम से जोरदार मुहिम भी चलाया गया। लगातार बढ़ रहे दबाव के बाद SIT की टीम का गठन किया गया और थानाध्यक्ष को सस्पेंड किया गया। प्रारंभिक जांच के दौरान उसी गांव के लालू झा एवं पवन झा को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था। SIT की टीम ने 5 जून को राघवेंद्र और पंकज जो कि नैंसी के चाचा लगते हैं उनको शक के आधार पर हिरासत में लिया था। पुलिस के मुताबिक राघवेंद्र और पंकज के फोन का रिकॉर्ड भी पुलिस ने खंगाला। दोनों को अलग-अलग बैठाकर पूछताछ के दौरान बयानों में काफी अंतर देखने को मिला।

ये भी पढे़ं:-   टेस्ट मैचों की पहली बार मेजबानी करेगा रांची

पुलिस की माने तो 25 मई को परिवार में शादी समारोह में शिरकत करने सभी लोग चले गए थे। उस समय घर में सिर्फ मृतक नैन्सी उसकी बुआ पूजा ,राघवेंद्र और पंकज था। राघवेन्द्र के कहने पर ही लालू झा और पवन झा को नामजद आरोपी बनाया गया था। लालू और पवन को पुलिस ने 28 मई को गिरफ्तार कर लिया था। अब ह्त्या के इस मामले लालू झा और पवन झा निर्दोष हो सकते हैं।  हत्यारा राघवेंद्र और पंकज जो नैन्सी के रिश्ते में चाचा लगते हैं निकला। पुलिस ने दोनों से पूछताछ की और फिर उसे जेल भेज दिया गया है। हालांकि पुलिस दोनों को फिर रिमांड पर लेगी। एसपी की माने तो इस ह्त्या में कुछ और घर के लोग संलिप्त हैं जिसे जल्द ही दबोच लिया जाएगा  . वहीँ एसटीएफ इंचार्ज निधि रानी ने बतायी नैन्सी की बुआ की शादी हो गयी है और पूछताछ के दौरान नैंसी की बुआ बताती है की नैन्सी साथ में थी लेकिन किधर निकल गयी नहीं देखि। एएसपी निधि रानी की माने तो अंतिम समय पूजा के पास घर में ही नैन्सी थी।  बहरहाल नैन्सी ह्त्या में कुछ और गुत्थियाँ सुलझनी अभी बांकी है ,कई और लोग पुलिस की तफ्तीश में घेरे में है। 

पुलिस के मुताबिक शुरुआती तफ्तीश के दौरान राघवेन्द्र झा और पंकज झा ने बताया था कि 25 मई को शाम में उन दोनों ने गांव के लालू झा व पवन झा को एक अज्ञात वयक्ति द्वारा नैंसी के अपहरण करने के बाद आम के पेड़ के पास देखा था। लेकिन घटना के जिस समय का इन दोनों ने जिक्र किया था उस समय लालू झा पेट्रोल पंप पर मौजूद थे और इस बात की पुष्टि पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी फुटेज से हो रही है। SIT की टीम ने इस केस की तफ्तीश के दौरान नैंसी की सहेलियों से भी पूछताछ किया था। नैंसी के परिजनों ने बताया था कि 25 तारीख की शाम को नैंसी बुआ के घर गई जहां से नैंसी सबसे पहले निकल कर चली गई थी। उस दिन नैंसी के साथ तीन और बच्चे साथ में थे। नैंसी के परिजनों की इस बात को बच्चों ने झूठ बताया। बच्चों के मुताबिक वे लोग घर से पहले निकल गए थे जबकि नैंसी को बुआ के साथ उन्होंने आखिरी बार एक कमरे में पलंग पर देखा था।

ये भी पढे़ं:-   नीतीश कुमार की बढ़ी मुश्किलें... प्रशांत किशोर से छीन सकता है परामर्शी व कैबिनेट मंत्री का दर्जा !

हालांकि इस मामले में नैंसी के परिवारजनों का कहना है कि वो पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं हैं और पुलिस जान बूझकर परिवारवालों को फंसा रही है। नैंसी के पापा ने कल इस संबंध में एक वीडियो जारी कर अपील भी किया था कि पुलिस केस को भटकाना चाह रही है। खैर अब जब पुलिस ने इस मामले में चौंकाने वाला खुलासा कर दिया है तो आने वाले दिनों में इस केस पर सबकी निगाहे अटकी रहेंगी।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME