24 जून, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

टैक्स संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश! विपक्ष ने कहा फेयर एंड लवली के बाद अब फिफ्टी फिफ्टी योजना लेकर आई है सरकार

arun

demo

newsofbihar.com डेस्क

पटना, 29 नवम्बर। प्रधानमन्त्री मोदी के नोटबंदी के फैसले बाद देश भर के बैंकों में जनधन खातों में 64000 करोड़ रूपये जमा होने के बाद सरकार हरकत में आ गई। बैंकों में जमा अघोषित आय पर टैक्स, पेनल्टी से लेकर सरचार्ज तक लगाया जाएगा। अघोषित आय और जमा धन पर लगाम लगाने के लिए सोमवार को वित्तमंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में टैक्स संशोधन विधेयक पेश किया। इस बिल के मुताबिक नोटबंदी की घोषणा से अब तक जमा अघोषित आय पर 30 पर्सेंट टैक्स, 10% पेनल्टी और 33 पर्सेंट सरचार्ज वसूले जायेंगे. यह सरचार्ज कुल टैक्स पर वसूला जाएगा, जो 13 पर्सेंट के करीब होगा। इस सरचार्ज को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण सेस का नाम दिया गया है। 30 दिसबंर के बाद गरीब कल्याण योजना को बंद करने की बात हो रही है।
वहीं नए बिल के मुताबिक यदि संबंधित व्यक्ति खुद इस रकम की घोषणा नहीं करता है और आयकर विभाग पकड़ता है, तो इस राशि पर 75 पर्सेंट टैक्स और 10 पर्सेंट पेनल्टी लगेगी। गौरतलब है कि बैंकों के पास करीब 6.50 लाख करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं।

क्या है बिल की अहम् बातें

बिल की सबसे खास बात यह है कि 2.5 लाख रुपये से अधिक की अघोषित आय के 25 पर्सेंट हिस्से को सरकार गरीब कल्याण योजना के फंड में जमा करेगी। इस राशि को शिक्षा, स्वास्थ्य और इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किया जायेगा। इस स्कीम को पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत लांच किया गया है। सरकार ने अघोषित आय पर करीब 75 पर्सेंट टैक्स लगाने का फैसला लिया है, जबकि बाकी बची 25 पर्सेंट रकम को निकाला जा सकेगा। गरीब कल्याण योजना के तहत खर्च होने वाली राशि को घर, सिंचाई और शौचालय में खर्च किया जायेगा।

ये भी पढे़ं:-   दरभंगा : सांसद कीर्ति आजाद के प्रयास से ग्रामीण क्षेत्रों में भी रेल सेवा की नई सौगात !

कालाधन वालों को अपना धन सफ़ेद करने का मिला अवसर

जानकारी के अनुसार इस बिल संशोधन को ब्लैक मनी रखनेवालों के लिए एक और मौके की तरह देखा जा रहा है। हालांकि जमा रकम पर कितना फाइन होगा, इस बारे में कुछ भी क्लियर नहीं है। इस बिल को मनी बिल की तरह पेश किया गया। इससे राज्यसभा में बिल के पास होने में कोई प्रॉब्लम नहीं होगी। अघोषित आय जमा कराने वाले लोगों का नाम उजागर नहीं किया जायेगा।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME