21 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

अचानक नीतीश ने क्यूँ ले लिया शराबबंदी को लेकर अध्ययन करवाने का फैसला ?

Nitish-kumar

पटना, 30 जुलाई : बिहार में शराबबंदी के बाद हुए अच्छे या बुरे असर की तह तक की पड़ताल करने नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी और उनकी टीम बहुत जल्द बिहार आएगी। मिली जानकारी के अनुसार बिहार विधान परिषद की ओर से सत्यार्थी को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैलाश सत्यार्थी को आग्रह किया है की राज्य में शराबबंदी के असर का अध्ययन करें। ‘बचपन बचाओ आंदोलन’ के प्रणेता कैलाश सत्यार्थी ने इसे स्वीकार कर लिया है।
मुख्यमंत्री ने शराबबंदी के बारे में बताया की आज माहौल पूरी तरह बदल गया है। शराबबंदी के बाद शराब छोड़ने वाले लोगों के जीवन में सुधार हुआ है, परंतु हमें इस पर एक तटस्थ संगठन की ओर से एक विस्तृत और वैज्ञानिक अध्ययन की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आप सत्यार्थी जैसे लोग इस मुद्दे पर अध्ययन कराने की पहल कर सकते हैं। सरकार खुद यह अध्ययन कराती लेकिन किसी तटस्थ व्यक्ति की ओर से अध्ययन कराना बेहतर रहेगा। वहीं सत्यार्थी ने नितीश के आग्रह को स्वीकार करते हुए कहा कि शराबबंदी छोटा कदम नहीं है, बल्कि एक साहसिक कदम है। इससे बाल उत्पीड़न और मजदूरी पर अंकुश लगाने में जरूर मदद मिलेगा। मैं अध्ययन कराने के सुझाव को स्वीकार करता हूं।

ये भी पढे़ं:-   तेजस्वी यादव का बयान राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनने की रखते है क्षमता

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME