27 मार्च, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

Big Breaking:’निश्चय यात्रा’ के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे मधुबनी, किया पंचायत भवन का उद्घाटन

nitish

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्ट

मधुबनी, 16 नवम्बर। गुजरात में राज्य निर्माण के बाद से ही शराब बंदी है। मगर वहां के लोगो में बिहार जैसी शराबबंदी की चर्चा होने लगी है। बिहार की सफलता को देख अब तो गुजरात के लोग भी बिहार जैसी शराबबंदी अपने राज्य में लागू करने की मांग करने लगे है। इतने कम समय में यह सफलता सिर्फ कानून से नही मिली है। यह सब सामाजिक चेतना के प्रयास से ही संभव हुआ है। उक्त बातें सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार को झंझारपुर अनुमंडल के लौफा पंचायत सरकार भवन पर जीवीका समूह के दिदिओं को संबोधित करते हुए कही। सीएम ने मौजूद जीवीका सदस्यो से आहवान किया कि आप लोगों को कहीं भी पता लगे कि कोई नशा का सेवन कर रहा है तो उनके घरों में एक साथ धावा बोलें उन्हे समझायें। नहीं माने तो उन्हें नशामुक्ति केन्द्र में भेजा जायेगा। सीएम ने कहा कि बिहार की आबादी 11 करोड़ है। सभी घरों में पुलिस एवं कानून का पहुंचना मुश्किल है। इसके लिए जीवीका दीदी एवं आम महिलाओं के उपर बड़ी जबाबदेही है। ताड़ी के सवाल पर सीएम ने कहा कि सूर्योदय के पूर्व का नीरा स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। चार साल पूर्व मुजफ्फरपूर में ताड़ी पीने से कई लोगों का जानें चली गई। पता लगा कि कुछ लोग उसमें यूरीया मिला रहे थे। इसे रोकना है। लोगो को समझाना है और नया नशामुक्त बिहार बनाना है।
सीएम ने इससे पूर्व लौफा के साहनी टोला में घूम घूम कर पानी के लिए लगाये गये पाईप लाईन एवं बन रहे शैचालय का निरीक्षण किया। पंचायत सरकार भवन का उदघाटन किया। लोगों से मिले। अधिकारियों से सात निश्चय के तहत क्षेत्र में चल रहे कार्यो के बाबत जानकारी ली। इस दौरान लोगों का विशाल जनसमूह नीतीश कुमार जिंदाबाद के नारे लगातार लगाते रहे। कुछ पंचायत प्रतिनिधि सीएम से न मिल पाने के कारण खफा दिख रहे थे। इनका कहना था कि बीडीओ ने सरपंच एवं मुखिया को बुला लिया और मिलने की कोई भी व्यवस्था नहीं थी। पूरे कार्यक्रम के दौरान एक घंटा तक लौफा में रुके। सीएम के साथ मंत्री मदन मोहन झा, कपिल देव कामत, विधायक गुलाब यादव ,ज्योति झा, दिगम्बर मिश्र सहित अन्य लोग मौजूद थे।

ये भी पढे़ं:-   नीतीश सरकार में दिखा जंगल राज का जीवंत उदाहरण

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME