03, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

ट्रिपल तलाक पर नीतीश का विवादास्पद बयान…पीएम मोदी कौन होते है निर्णय लेने वाले !

nitish-modi

पटना, 18 अक्टूबर। ट्रिपल तलाक और कॉमन सिविल कोड पर मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा। आए दिन इस पर राजनीति तेज होती जा रही है। अब इस मामले में बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी शामिल हो गए हैं। केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर वार करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि इस मुद्दे को मुसलमान समुदाय केे लोगों पर ही छोड़ देनी चाहिए। सीएम नीतीश के अनुसार ट्रिपल तालाक और कॉमन सिविल कोड पर निर्णय लेने का अधिकार केंद्र सरकार और पीएम के पास नहीं है। वे कौन होतेे है इस मुद्दों पर निर्णय लेने वाले।

बताते चले कि सीएम कुमार राजगीर में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। अपने भाषण में नीतीश कुमार ने सर्जिकल स्ट्राइक पर पीएम मोदी का समर्थन करते हुए कहा कि देश एक है और हम एकजूट हैं।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

15 विचार साझा हुआ “ट्रिपल तलाक पर नीतीश का विवादास्पद बयान…पीएम मोदी कौन होते है निर्णय लेने वाले !” पर

  1. Md ashgar October 18, 2016

    Ma kishanganj md Ashgar ma kuchha mukhmantari ko kahana chahatahu kishanganj ke kisano ke lia jage jage ma stet borig galwade taki kishan ko kheti karne ka subhida ho kisano ka man lagega

  2. Santosh kumar October 18, 2016

    Daru par Jo kanun banahe vahi kanun madar daketi baltkar par laga diaja taki mere raj ka har kpe ko dar ho ki musibat pure gao chahe parivar vale par musivat as sakti he

  3. Md Irfan Aariyan Ansari October 19, 2016

    Mai Md Irfan ansari mera ye kahna hau ke muslim dharam ek dharam hai koie sanwidhan nahi jisme jab jo dil kiya woh baat add karde ya erase kar diya jaaye mai total dharam k logo se puchhta hu k agar koie uske dharam k baato me koie baat ko change karne ki kosis karega to kya aap munh dekhenge nahi n to fir hum v aisa ni karenge agar ek v chher chhar huie to hame v eit ka jawab patthar se dena aata hai ye hamara dharam aur hamare dharam ka kaanoon hai modi k baap ki jaageer ni jab jo dil ķiya badal diya

  4. Mohammad Irfan Qureshi October 19, 2016

    Muslim kya kisi bhi darm ki bat ho modi pm. H ko bhawan nhi ham janta wo hamara noker h noker ko apni okat nhi bholni chahiye majhab ke liye koi bhi samjota nhi hoga apne kiye wade to nibha nhi saka hamre majhb ke bich tang adata h

  5. saba October 20, 2016

    Islam me Jo hai usko koi Nhi badal sakta aur hamare Quran Pak me sure Talaq hai ye sure isi liye nazil hui thi ki koi bhi isme fer badal na kar sake
    Modi apni bv ke bare me soch le fir hamare Islam ke qanoon ko samjhe talaq ki bhi condition hoti hai apni bv rakh Nhi paya Islam ka qanoon badlega apni had me rhe pm bna hai aur kuchh Nhi aur ham janta se hi bna hai Muslim law me inter fair na kre janta banana janti hai to bigadna bhi

  6. Naushad Alam October 20, 2016

    Islam shairyat me dakhal dene ki koi gunjaish nahi hi keyo ki shairyat Quran aur hadis se chalta hi na ki Hindustani smbidhan se is liy is me koi v dakhal na de

  7. Naushad Alam October 20, 2016

    Islami shairyat me dakhal dene ki koi gunjaish nahi hi keyo ki shairyat Quran aur hadis se chalta hi na ki Hindustani smbidhan se is liy is me koi v dakhal na de

  8. Dilshad October 20, 2016

    Yah sub fejul ke bato say bs time kharab hota h agr apne desh k lea kuch krna he chahte ho to grebe ko khatam krke dekhao.
    Mera to bs yahe khna h grebe metao khatam kro grebe ko.

    Thank u

  9. lahu shegde October 20, 2016

    news ka headline totally misguiding hai. mujhe ye nai samajh aaya ki aap news bata rahe ho ya decission de rahe ho. nitish ka bayan vivad-spad hai ya nai ye public decide karegi. aap kaun hote ho decision dene waley
    doosri baat nitish ke bayan mein vivad-spad kya hai. sahi toh kaha nitish ne ki PM kaun hote hain shariya kanoon mein dakhal dene wale…

  10. lahu shegde October 20, 2016

    *देश में कितने पर्सनल लॉ*

    *सिर्फ मुसलमानों के तीन तलाक़ पर बहस क्यों*
    *इस देश में और भी पर्सनल ला हैं उनपर कोई बहस क्यों नहीं?*
    *ऐसे ही कुछ पर्सनल ला की एक लम्बी सूची आपके* अवलोकन के लिए *

    1) *गोवा के हिंदू महिला को अगर 25 वर्ष की उम्र तक बच्चा नही हुआ ( या 30 वर्ष की उम्र तक बेटा ) तो उसका पति दुसरा विवाह कर सकता है। (ये बेटा बेटी में कानूनन भेद किया गया है) लेकीन गोवा का मुस्लिम दुसरी शादी नही कर सकता।*
    2) कर्नाटक का ब्राह्मण अपने भांजी से शादी कर सकता है, लेकीन महाराष्ट्र का ब्राह्मण नही कर सकता।
    3) *बैंक में कोई व्यक्ति अपने साथ में शेविंग ब्लेड भी ले जाये तो गिरफ्तार किया जा सकता है, लेकीन सिख सरदार तलवार भी ले जा सकेते हैं ।*
    4) सिख महिला बगैर हेल्मेट के बाईक चला सकती है, क्योंकि सिख धर्म में महिलाओं को टोपी पहेनना अवैध है।
    5) *जैन पुरूष, निकोबार के हिंदू पुरूष व महिलायें और हिंदू नागा साधू पुरूष निर्वस्त्र रह सकते हैं, लेकीन कोई दुसरे धर्म के लोग निर्वस्त्र रहें तो पुलिस गिरफ्तार करती है। जैन महिलाओं को निर्वस्त्र रहेने का अधिकार नहीं है।*
    6) गोवा के चर्च में हुये किसी कैथलिक के विवाह के बाद वो अदालत की मर्जी के बगैर तलाक दे सकता है, मुस्लिम नहीं।
    7) *सिख फौजी दाढ़ी रख सकता है, मुस्लिम नहीं।*
    8) सिख पायलट पगडी पहन सकता है, हिंदू नहीं।
    9) *आसाम के ऐसे चार जिले हैं जहा आदिवासी जगह खरीद सकता है, ब्राह्मण नहीं।*
    10) कश्मीर की ही तरह नागालैंड और कुछ पूर्वोत्तर राज्यों को भी विशेष राज्य का दर्जा दिया गया है।
    11) *केवल हिंदूआदिवासी भाला,चाकू और दूसरे कुछ हथियार रख सकते हैं दुसरे नही*
    12) अग्यारी (पारसी धर्मस्थल) में केवल पारसी जा सकते हैं, दुसरे नहीं।
    13) *सोमनाथ व पशुपतिनाथ मंदिर में केवल हिंदू जा सकते है, दुसरे नहीं।*
    14) केरल में सिर्फ क्रिश्चियन शराब पी सकता है, बेच सकता है, हिंदू नहीं।
    *मुसलमानों को बदनाम करने वालों जरा गौर से सोंचो, पर्सनल ला खतम हो जायेगा तो क्या देश में धार्मिक आज़ादी नाम की कोई चीज़ बाकी रहेगी या सरकारी गुलामी?*

  11. Saddam October 20, 2016

    5 saal me yaha neta change hota na ki kanoon
    WO vi islam ka kanoon
    Ye hum kavi nahi hone denge
    Jo main kaaam hai uski to tension hai nahi kuch hamare netao ko
    Faltu me fshas Nazi karni khub aati hai

  12. razee ahmad October 21, 2016

    Aise ek hajar pm bhi kuchh nahi ukhad painge

  13. Sahajad October 21, 2016

    Modi ji aap hamare majhab ke baare m Kya jaante h Jo ham Muslim ke Piche pare h aap pahle apna dharam ke Logan se pata kijye ke aapka Hindu dharma Kon kon sa bhagwan ko maanta h aap 360 ko mante h ham musalmaan ek Allah ko mante h agar use baare m ham musalmaan ko Haq h Kya karna chahiye aap apna Hindu dharam ko sambhalye q pare h ham musalmaano ke Piche aap bade h aur bada sonch rakhiye aur Hindustan ke liye Kuch sochye

  14. Md Hasnain October 24, 2016

    तलाक देने वाले गलत तरीके को अपना रहे है। जो की गैर इस्लामी तरीका है। ऐसे में उन्हें सुधरने की जरूरत है। सरियत में सुधार करने की जरुरत नही है।

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME