14 जुलाई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

व्यवसायी बंधू डबल मर्डर केस में हसीना का हाथ होने का है पुलिस को शक, मर्डर का राज अब भी है बरक़रार..

18_12_2013-murder-w-1

Logo pic

newsofbihar.com डेस्क

पटना, 29 नवम्बर। पटना के डबल मर्डर केस में उलझनें बढती जा रही हैं। हत्या के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है और मर्डर की मिस्ट्री अभी बरक़रार है। पुलिस इस मर्डर मिस्ट्री को सुलझाने का जितना प्रयास कर रही है, पुलिस की उलझनें उतनी ही बढती जा रही हैं। एक तरफ जहाँ लड़कियों से लम्बी लम्बी बातचीत का मामला है तो दूसरी तरफ संपत्ति विवाद में हत्या होने की बात भी कही जा रही है। हत्या का असली कारण क्या है यह अभी तक राज ही बना हुआ है।
मौत के राज को घर की दीवारों से बाहर निकालने के लिए पुलिस ने मारे गए भाइयों के दोस्त समेत 9 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। लेकिन पुलिस का कहना है कि वह अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। वहीं दोनों मृतकों के परिवार के लोग भी मामले की गुत्थी सुलझाने में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे हैं। छोटा भाई भोलू भी सामने नहीं आ रहा। छानबीन में संपत्ति के विवाद की बात सामने नहीं आई है। अभिषेक की पूर्व मंगेतर से दो घंटे तक पुलिस ने पूछताछ की है।

मर्डर मिस्ट्री से जुडी महत्वपूर्ण बातें

– गांधी मैदान थाना क्षेत्र में जमाल रोड के कुमार कांप्लेक्स में भोजपुर मूल के सगे भाई अभिषेक और सागर की हत्या कर दी गई थी। दोनों के क्षत-विक्षत शव शुक्रवार की रात उनके बंद कमरे में मिले थे। एसएसपी मनु महाराज के अनुसार पुलिस को कई अहम सुराग मिले हैं। चार टीमें जांच में जुट गई हैं। हत्यारे जल्द गिरफ्त में होंगे। घटना में किसी नजदीकी का हाथ की आशंका है।
– पुलिस का कहना है कि अभिषेक की शादी और लड़की को लेकर परिवार में कलह थी। किसी ने आहत होकर अभिषेक की नृशंस हत्या की साजिश रची। चूंकि सागर के मोबाइल और इतिहास खंगालने से कोई संदिग्ध जानकारी नहीं मिली, इसलिए माना जा रहा है कि वह बेमौत मारा गया। वह या तो वारदात के दौरान पहुंच गया होगा, या फिर हत्यारों को अभिषेक अकेला नहीं मिला, इसलिए उन्होंने सागर को भी मार डाला।

ये भी पढे़ं:-   कुर्ता और पैजामा 'गिरवी' रख हाफ पेंट और गंजी पहनकर घूम रहा है बीजेपी का यह विधायक... जानिए क्या है दिलचस्प मामला !

– विश्वकर्मा पूजा से एक दिन पूर्व रोहतास की एक लड़की से अभिषेक की सगाई हुई थी और शादी की तारीख 23 नवंबर तय की गई। बिना कारण बताए अभिषेक ने सगाई तोड़ दी, लेकिन पूर्व मंगेतर से लगातार वह बातें करता रहा। हत्या के एक दिन पहले उसके छोटे भाई ने पटना आकर शादी के मुद्दे पर बात की थी। पुलिस लड़की के मोबाइल कॉल डिटेल की जांच करेगी। उस लड़की का रिश्ता अभिषेक की बहन की ससुराल की तरफ से था।

– पटना पुलिस की पांच सदस्यीय टीम भोजपुर के पीरो अंतर्गत नारायणपुर गांव में कैंप कर रही है। अभिषेक और सागर के बारे में रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पता लगाया जा रहा है। तफ्तीश ने मालूम हुआ कि सगाई के बाद उनके घर वालों ने लड़की के परिजनों ने शादी की तैयारी के लिए मोटी रकम ली थी, लेकिन सगाई टूटने के बाद रुपये नहीं लौटाए।

– पुलिस सूत्रों की मानें तो अभिषेक तीन मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल करता था। नंबरों को खंगाला गया तो मालूम हुआ कि कई लड़कियों से उसकी लंबी-लंबी बातें होती थीं। सगाई टूटने के बाद पूर्व मंगेतर से फोन पर बातें करना, पुलिस की समझ से परे है।

– 23 नवंबर को अभिषेक ने आखिरी बार घर पर बात की थी। इस तारीख पर उसकी शादी होने वाली थी, जो टूट गई। अंतिम बार अभिषेक ने मां से बात की और छोटे भाई अमित उर्फ भोलू का हाल पूछा था।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME