09, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पटना मेट्रो परियोजना को बड़ा झटका!

Patna-Matro

पटना, 9 अगस्त। मेट्रो ट्रेन की बाट जो रही पटना वासियों के लिए बुरा खबर है। बताया जा रहा है कि पटना मेट्रो के लिए कॉम्प्रिहेंसिव मोबिलिटी प्लान (सीएमपी) बनाने की कवायद में जुटी प्रदेश सरकार सोमवार को झटका लगा है। नगर विकास एवं आवास विभाग को एक महीने की तलाश के बावजूद सीएमपी बनाने वाली कपंनी नहीं मिली। अब नये सिरे से रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) जारी करने की तैयारी है।
दरअसल, जून में शहरी विकास मंत्रलय ने पटना मेट्रो परियोजना की मंजूरी देने से पूर्व प्रदेश सरकार से सीएमपी रिपोर्ट तलब की थी। केंद्र सरकार ने कहा था तीन महीने में सीएमपी प्रस्तुत करें। इसी आधार पर नगर विकास एवं आवास विभाग ने एक महीने के अंदर सीएमपी बनाने वाली कंपनी को ढूंढ़ने का लक्ष्य तय किया। इसके तहत आरएफपी जारी किया गया। आरएफपी की शर्तो के अनुसार शहरी विकास मंत्रलय में सूचीबद्ध कंपनियां ही सीएमपी बनाने के लिए आवेदन कर सकती है। लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा तय शर्तो के अनुसार आरएफपी डालने की आखिरी तिथि पांच अगस्त और आरएफपी खोलने की आखिरी तिथि 8 अगस्त बीतने के बावजूद किसी कंपनी ने रुचि नहीं दिखाई है।

क्या है सीएमपी
सीएमपी के जरिए ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम को डेवलप करने की विस्तृत कार्य योजना तय होती है। इसके तहत मुख्य रूप से शहर के मुख्य मार्गो पर सर्वाधिक यातायात दबाव का आकलन किया जाता है। रेलवे स्टेशन, सचिवालय, अस्पताल, एयरपोर्ट और बस स्टैंड से यात्रियों को कवर करने के लिए यातायात संसाधन की फ्रीक्वेंसी आंकी जाती है। इसका मकसद यह है कि शहर में रहने वाले और बाहर से आने-जाने वाले यात्रियों को आसानी से यातायात सुविधा मिल सके। आसपास के दूसरे शहर और गांवों के बीच आगामी दो दशक में होने वाले विकास और यातायात के दबाव का आकलन करते हुए ट्रैफिक प्लान विकसित कराने की योजना शामिल है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME