08, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

NOB Exclusive: देखो ये किस्सा है कैसा, बच्ची की है शादी पर बैंक से नहीं मिल रहा पैसा !

jahanabad-sadi

जहानाबाद, 14 नवंबर। स्थानीय पीएनबी में लगातार पांचवे दिन भी अत्याधिक भीड़ रहने के कारण कई लोगों को वापस लौटना पड़ा। बहुत सारे लोग चार दिनों से बैंक का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन न तो उनके रुपये जमा हो रहे हैं और नहीं एक्सचेंज। लग्न के इस मौसम में कई लोगों के घरों में शादी विवाह का तिथि निर्धारित है। लेकिन पैसा नहीं मिलने के कारण ऐसे घरों में लोग मायूस होकर इस व्यवस्था को कोस रहे हैं। कई ग्राहकों के घरों में दैनिक प्रयोग के सामान खत्म हो गए है। नोट नहीं बदले जाने एवं रुपये की निकासी नहीं होने से ऐसे घरों में खाने के सामानों की भी किल्लत है। लोग परेशान होकर बैंक का चक्कर लगाकर निराश होकर वापस लौट रहे हैं।

गंधार के गिरिजेश शर्मा के घर में बेटा की शादी है। वे दुध के लिए जहानाबाद गए। सौ एवं पचास रुपये का नोट नहीं होने के कारण उन्हें दुध नहीं मिल पा रहा है। बिक्रेता पांच सौ एवं एक हजार रुपये का नोट लेने के लिए तैयार नहीं था। वे निराश होकर वापस लौटे खुदरा के जुगाड़ में वे अपने शुभचिंतकों एवं रिश्तेदारों से संपर्क बना रहे हैं। अब इस मुसीबत में इन्हीं लोगों का सहारा है।

इसी प्रकार बंधुगंज के दिलीप कुमार के घर में तीस नवम्बर को लड़की की शादी है। पैसा निकालने के लिए प्रतिदिन बैंक जा रहे हैं। लेकिन अत्याधिक भीड़ के कारण उन्हें रुपये निकालने में सफलता नहीं मिल रही है। इधर वर पक्ष वाले भी ताबड़तोड़ फोन कर रहे हैं। वे व्यवस्था को कोसते हुए यह कह रहे हैं कि अब तो भगवान ही मालिक है। शादी कैसे पार लगेगा। समझ में नहीं आ रहा है।

परियावां निवासी राज कुमार तिवारी की बच्ची की शादी के लिए 22 नवम्बर को तिथि निर्धारित है। नोट बंदी के कारण सामानों की खरीद नहीं हो रही है। बैंक से भी पैसा नहीं मिल रहा है। वे भी प्रतिदिन बैंकों का चक्कर लगाकर वापस लौट रहे हैं। बेटी की शादी की चिंता से व्याकुल होकर अपने लोगों से मदद की गुहार लगा रहे हैं।

इधर बंधुगंज के किराना दुकानदार सुनिल कुमार ने आपबीती सुनाते हुए बताया कि जो भी ग्राहक आता है वह हजार व पांच सौ का नोट देता है। अब हमारे पास खुदरा रहे तो न। उन्हें बाकी पैसे लौटाएं । इस परेशानी के कारण बिक्री भी प्रभावित हो रही है। कोरवां निवासी किराना व्यवसायी संतन कुमार ने बताया कि नोटबंदी के कारण सामान बेचने में परेशानी हो रही है। शादी विवाह का मौसम है। अब ऐसी परिस्थिति में जब सामान लाने के लिए बाजार में जाते हैं तो वहां हजार एवं पांच सौ रुपये का नोट नहीं लिया जा रहा है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME