05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पिता के मरने के बाद संपत्ति के लालच में बेटों ने किया कुछ ऐसा की… सोच भी नहीं सकते है आप !

untitled-1-copy-2-1

भागलपुर, 25 अक्टूबर : भागलपुर जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनने के बाद किसी की भी नज़र शर्म से झुक जाये। दरअसल भागलपुर के भादरिया पंचायत के रामचन्द्रपुर गाँव के जगदीश तांती (80 वर्ष) की मौत शनिवार की शाम में हो गयी। लेकिन पिता की मौत के बाद उनका शव 72 घंटे तक यूं ही पड़ा रहा। मृतक के चार पुत्रों में से किसी ने भी अपने पिता को देखने की इक्षा नहीं जताई। जिसका सिर्फ एक ही कारण था वह था संपत्ति का लालच।
जगदीश तांती के निधन की खबर सुनकर गांव में रह रहे तीन बेटों में से एक भी उन्हें देखने तक नहीं गए। चौथा बेटा बंगाल में ट्रक का ड्राइवर है। मृतक के चार बेटे गणेश तांती, महेश तांती, बीरबल तांती एवं जनार्दन तांती हैं।

उनके तीन बेटों ने आरोप लगाया कि पिता ने अपने तीसरे पुत्र बीरबल की पत्नी के नाम से घर की जमीन के अलावा खेत भी लिख दिया है। महेश तांती एवं जनार्दन तांती ने बताया कि वे लोग गरीब हैं व मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते हैं। उनके पिता ने घर की 14 कट्ठा जमीन अपने तीसरे पुत्र बीरबल के पत्नी के नाम लिख दिया। इसके अलावा सात कट्ठा जमीन बेच कर उस पुत्रवधु के नाम से दो बीघा जमीन भी खरीद दी। जो की मामला कोर्ट में लंबित है।

रविवार को शाम में जब शव से दुर्गंध आने लगी तो ग्रामीणों के दबाव में शव को गांव से बाहर बांध पर रख दिया गया। सोमवार को इसकी सूचना मिलने पर अंचलाधिकारी राजेश कुमार सिन्हा व अवर निरिक्षक रामचन्द्र शर्मा पुलिस बलों के साथ गांव पंहुचे। पहले शव का अंतिम संस्कार करने की बात कही। प्रशासन व ग्रामीणों के दबाव के बाद चारों भाइयों ने शव को उठाया और अंतिम संस्कार के लिए ले गये। सीओ ने कहा कि जमीन संबंधी विवाद का फैसला श्राद्ध कर्म के बाद कर दिया जाएगा।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME