रेलवे ने लिया है ये बड़ा फैसला, यूपी और बिहार के रेल यात्रियों को मिलेगा बड़ा लाभ, जानिए

indian-railways
indian-railways
Advertisement

नई दिल्ली। अगर आप ट्रेन में सफर करते है और आप बिहार या यूपी के यात्रि हैं तो आपके लिए अच्छी खबर हैं। इस रुट पर यात्रियो की बढ़ती संख्या को देखते हुए रेलवे ने एक बड़ा फैसला लिया है। यात्रियों की बढ़ती वेटिंग लिस्ट और भारी भीड़ के मद्देनजर पूर्वोत्तर रेलवे ने इन रुटो की कई ट्रेनों में कोचो की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है। आपको बता दे कि रेलवे कई ट्रेनो में अतिरिक्त कोच लगाने जा रहा है।

इस बारे में जानकारी देते हुए पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंर्पक अधिकारी संजय यादव ने इस बारे में बताया कि बेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों की सुविधा को लेकर प्रशासन ने तीन जोड़ी एक्सप्रेस गाड़ियों में अतिरिक्त कोच लगाने का फैसला लिया है। उन्होने बताया कि इन ट्रेनो में अतिरिक्त कोचों के आते हीं गाड़ी के प्रस्थान समय से काफी पहले ही प्रतीक्षा सूची कम होगी या आरक्षण कन्फर्म हो जाएंगे। आपको बता दे कि रेलवे के इस फैसले का सीधे तौर पर लाभ यूपी-बिहार जाने वाले यात्रियों को मिलेगा।

इन ट्रेनों में लगाएं जाएंगे अतिरिक्त कोच:-

15003 कानपुर अनवरगंज-गोरखपुर चैरी चैरा एक्सप्रेस में 23 एवं 25 जून को कानपुर अनवरगंज से शयनयान श्रेणी का एक कोच।
-15004 गोरखपुर-कानपुर अनवरगंज चैरी चैरा एक्सप्रेस में 22 एवं 24 जून को गोरखपुर से शयनयान श्रेणी का एक कोच।
-15119 रामेश्वरम-मंडुवाडीह एक्सप्रेस में 27 जून को रामेश्वरम से शयनयान श्रेणी का एक कोच।
-15120 मंडुवाडीह-रामेश्वरम एक्सप्रेस में 24 जून को मंडुवाडीह से शयनयान श्रेणी का एक कोच।
-15021 शालीमार-गोरखपुर एक्सप्रेस में 26 जून को शालीमार से शयनयान श्रेणी का एक कोच।
-15022 गोरखपुर-शालीमार एक्सप्रेस में 25 जून को गोरखपुर से शयनयान श्रेणी का एक कोच।


ट्रेनों की लेटलतीफी होगी दूरः-
आजकल ट्रेनो के लेटलतीफी को लेकर यात्रियो में काफ़ी गुस्सा है। रेलवे की माने तो नए रेलवे पथ के निर्माण के कारण ऐसी दिक्कते सामने आ रहीं है। हालांकि अब इसे लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने नए आदेश जारी किए हैं कि रेलवे पुल, रेल ओवर ब्रिज (आरओबी), सब-वे का निर्माण, रेल पटरी बदलने व अन्य बड़े काम रविवार को किए जाएंगे। इसी तरह से छोटे काम के लिए सप्ताह में तीन दिन ट्रैफिक ब्लॉक लेने का प्रस्ताव है। आपको बता दे कि रेल मंत्री के इस फैसले को लेकर रेलवे बोर्ड ने अमल करना भी शुरू कर दिया है। बोर्ड न सभी क्षेत्रीय रेलवे को कार्य योजना बनाकर देने को कहा है जिससे कि इस आदेश का अनुपालन हो सके।

गांवों में ट्रेन का टिकट कराना आसान हुआ:- गांवो के यात्रियो को टिकट लेने में कोई दिक्कत न हो इसके लिए ग्रामीण इलाकों में साझा सेवा केंद्र (सीएससी) बनाए गए हैं। इन सीएससी केन्द्रो को ऑनलाइन रेलवे टिकट और अन्य सरकारी सेवाएं उपलब्ध कराने का काम करेंगे। ग्रामीण इलाकों में इसी सुविधा को उपलब्ध कराने के लिए रेल मंत्रालय तथा आईटी मंत्रालय ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है। जिसके तहत अगले कुछ महीनों में साझा सेवा केंद्रों (सीएससी) के जरिए रेल टिकट बुक की जा सकेगी। देश के सभी 2.9 लाख सीएससी को तकनीक के जरिए जोड़ते हुए उन्हें रेल टिकट बुकिंग में सक्षम बनाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here