03, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मायावती पर बवाल मचाने वाले इन दो महादलित युवकों की पिटाई पर मौन क्यों हैं ?

newsofbihar-209

-प्राथमिकी दर्ज, जांच में जुटी पुलिस।
-दूसरे पक्ष ने भी दर्ज

समस्तीपुर, 30 जुलाई। दलित वर्ग के लोगों पर लाख हो हल्ला के बाद भी अत्याचार कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मुजफ्फरपुर, दरभंगा की घटना के बाद नया मामला समस्तीपुर का है। बताया जा रहा है कि थाने के धुरलख गांव में दो महादलित युवकों को कुछ दबंगों ने खंभे में बांधकर पीटा। इस बाबत पीड़ित कुंदन कुमार राम ने अनुसूचित जाति थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें गांव के ही राजकरण राय, प्रमोद राय, रामकिशोर, गुलाब राय, मनमोहन कुमार, दामोदर राय, संतोष राय, लक्ष्मी राय, सुधीर राय व सतीश लाभ को आरोपित बनाया गया है। इस बारे में थानाध्यक्ष कुंदन कुमार ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस कार्रवाई में जुटी है।

वहीं पीड़ित कुंदन कुमार राम ने बताया कि गुरुवार शाम बाबूपुर से चापाकल गाड़कर साढू संजीवन राम के साथ साइकिल से जा रहा था। इस दौरान राजकरण राय के बथान के पास सड़क पर बनी ठोकर से वह गिर पड़ा। उसने सड़क पर ठोकर बनाकर परेशान करने की बात कही तो राजकरण ने सहयोगियों के साथ एक खंभे में बांधकर पीटा। घायलावस्था में दोनों को शुक्रवार को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। उधर दूसरे पक्ष ने गांव के कुमार सोनू ने भी एक प्राथमिकी दर्ज कराई है। उसके अनुसार गांव के ही कुंदन कुमार उर्फ बौआजी और संजीवन राम गुरुवार शाम नशे में दुकान पर आकर गुटखा मांगा। गुटखा नहीं रखने की बात कही तो दोनों गाली गलौज करते हुए मारपीट करने लगे। बचाने आए चाचा प्रमोद राय व चाची विभा देवी को भी मारपीट कर घायल कर दिया। चाचा की घड़ी व चाची के गले से ढोलना छीन लिया।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

ऐक विचार साझा हुआ “मायावती पर बवाल मचाने वाले इन दो महादलित युवकों की पिटाई पर मौन क्यों हैं ?” पर

  1. jasvinder khobra September 1, 2016

    aise ham par atyachar band nahi hoga hame sarkar ke bharose n rahkar apne aap hi hathiyaar uthane honge are wo h hi kitne h jo ham par atyachaar karte h hame unke int ka jabab ab pathar se nahi pahad se dena padega sarkar isme kuch nahi kar sakti kyoki sarkar aur rss walo ki bhi milibhagat h ab samay aa gaya h ke hume purn ajjadi ke liye ekjut hokar hathiyaar uthane honge jai bh

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME