01 मई, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

सावन का महीना और मेंहदी का श्रृंगार… जानिए मेंहदी लगाने में बरती जाने वाली सावधानियां !

13-mehndi-design-by-teej

सरिता कुमारी की रिपोर्ट

मेंहदी लगाना श्रृंगार का ही एक भाग है। जैसे कि आपलोग जानते है कि सावन के महीना में महिला और लड़किया मेंहदी हाथ और पैर में लगाना बहुत पंसद करती है। मेंहदी का दूसरा नाम हिना है। यहां तक कि हमलोग मेंहदी हाथों में ही नहीं बल्कि बालों में भी लगाना पंसद करते है।
आइये जानते हैं कि किस तरह का मेंहदी उपयोग करनी चाहिए। मेंहदी लगाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखे कि मेंहदी बहुत पुरानी न हो और मेंहदी का पैकेट कटा-फटा न हो। हवा लग जाने पर भी मेंहदी की तासीर में अन्तर आ जाता है। पैकेट खोलकर जो मेंहदी प्रयोग में लाने के बाद बच जाये उसे एयरटाइट डिब्बे में रखें। किसी पुरानी जार्जेट की साड़ी या दुपट्टे में मेंहदी तीन बार अवश्य छानें। हर बार छान कर जो भी कपड़े में बच जाए
उसे फेंक दें। मेंहदी घोलते समय ध्यान रखें कि नींबू का रस और चाय की पत्ती छलनी से छनी हो। नहीं तो लगाते समय नींबू की बीज या पत्ती कोन में आकर मेंहदी का तार तोड़ देगी।

मेंहदी बनाने की पहली विधि :
सामग्री
1 प्याला सूखा पाउडर मेंहदी
2 भिंडी, 1 चम्मच नींबू का रस
1 चम्मच चीनी
1 छोटा चम्मच मिट्टी का तेल या अचार का तेल ।

इस तरह करें मिश्रणः
भिंडी को अच्छी तरह मसल कर 1 कप पानी में भिगो दें।
इसके बाद पानी छान कर उसमें चीनी और नींबू मिलायें।
अब इसे अच्छी तरह घोल कर छान लें।
मेंहदी प्लास्टिक के बोल में डालें और थोड़ा-थोड़ा पानी डाल कर हाथों से घोलती जायें और मिट्टी का तेल डाल कर मिला लें।

ये भी पढे़ं:-   दरभंगाः बेहोश बच्चे को मरा समझ कर जा रहे थे दफनाने, नहलाते ही बच्चे की वापस लौटी जिंदगी !

मेंहदी लगाने से पहले करे यह काम

मेंहदी लगाने से पहले हाथों को अच्छी तरह दो-तीन बार साबुन से धो लें। उसके उसके बाद 2 चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच चीनी को हथेली पर लेकर तब तक रगड़ें जब तक कि चीनी अच्छी तरह मिल न जाये। मेंहदी हमेशा कलाई की ओर से शुरू करे और अंगुलियों तक लगायें। बची हुई मेंहदी अंगुलियों के पोर पर लगायें। लगाने के बाद जैसे ही मेंहदी सूखने लगे एक कटोरी में नींबू का रस और चीनी का घोल बनाकर रूई की सहायता से
धीरे-धीरे लगायें। जोर से रगड़ें नहीं, वरना मेहंदी छूटने लगेगी। 3-4 घंटे बाद अच्छी तरह सूखने पर मेंहदी को छुड़ा ले। 5-6 घंटे तक पानी से हाथ नहीं धोयें। मेंहदी हमेशा एक दिन पहले लगाएं। क्योंकि मेहंदी का रंग 24 घंटे बाद गहरा होता है। इस बात का हमेशा ख्याल रखे कि मेंहदी लगाकर हीटर के पास या धूप में न बैठे वरना मेंहदी रचने से पहले ही सूख जायेगी। अगर आपको किसी दुल्हन को मेंहदी लगना हो तो उसे पहले मेनीक्योर और पेडीक्योर पहले करवा दें।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME