10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

‘शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन फ्रंट’ का हुआ गठन, मुहर्रम नहीं मनाने का हुआ एलान !

sahabuddin

कुलदीप भारद्वाज की रिपोर्ट
पटना, 05 अक्टूबर : बिहार में शहाबुद्दीन के जमानत याचिका रद्द होने के बाद शहाबुद्दीन की जेल वापसी पर अभी तक राजनीति थमा नहीं है। जगह जगह प्रदर्शन हो रहे है तो आज बिहार के गोपालगंज में शहाबुद्दीन के समर्थकों ने ‘मो. शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन फ्रंट’ का गठन तक कर दिया है। समर्थकों का कहना है की फ्रंट के गठन करने का मुख्य उद्देश्य चरणबद्ध तरीके से आंदोलन चला कर सिवान के साहब की जेल से रिहाई सुनिश्चित करना है। साथ ही इस बार जिले में मुहर्रम नहीं मनाने की घोषणा की गई है। बैठक में उपस्थित समर्थको का मानना है साहेब की रिहाई नहीं होने की सियासी साज़िश के पीछे नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमो लालू यादव का हाथ है। इसी कारण आगामी चुनाव में इन दोनों को बिना सत्ता से बेदखल किये शहाबुद्दीन साहब की रिहाई संभव नहीं है। इसी को ध्यान में रखते हुए सिलसिलेवार ढंग से इस बैनर के तले आंदोलन चलाया जाएगा।
आपको बता दें की पूर्व सांसद मो.शहाबुद्दीन की जमानत निरस्त कर उन्हें जेल भेजे जाने को उन पर ज्यादती बताते हुए सिवान से शुरू हुआ कैंडिल मार्च और 3 अक्टूबर को सिवान राजद ईकाई ने धरने का आयोजन कर अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस धरने में हज़ारो हज़ार की संख्या में शामिल हुए साहेब के समर्थक हाथों में बैनर लिए कार्यकर्ताओं ने नीतीश और लालू विरोधी नारे लगायें थे। राजद के कार्यकर्ता सुप्रीम कोर्ट में जमानत के विरोध के सरकार के फैसले का विरोध कर रहे थे। इसका मतलब साफ़ है सरकार के खिलाफ राजद भी लोगों को एकजुट कर रही हैं।
इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए मंगलवार की शाम शबनम होटल गोपालगंज मे शहाबुद्दीन के समर्थको ने मीटिंग कर मो. शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन गोपालगंज के नाम से एक फ्रंट बनाया और फ्रंट के सदस्यों ने निर्णय लिया की एमपी साहब के समर्थन मे जो जन आंदोलन शुरू किया गया है। वो तब तक जारी रखना है जब तक शहाबुद्दीन साहब की रिहाई नही हो जाती है।इस आंदोलन को अंजाम तक पहुचाने खातिर फ्रंट के सदस्य कोई भी कुर्बानी देने को तैयार है।
साथ ही इस नवगठित फ्रंट के सदस्यों ने आपसी सहमती से निर्णय लिया है कि इस साल गोपालगंज जिले के मुस्लिम भाई एमपी साहब का बेल निरस्त होने के ग़म मे मूहर्रम का ताज़िया सह आखाडे नही निकालेंगे। साथ ही इस फ्रंट के सदस्य बुधवार से जिले में गाँव गाँव जाकर लोगो से मिलेंगे और आखाडा नही निकालने की अपील भी करेंगे।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

33 विचार साझा हुआ “‘शहाबुद्दीन मुक्ति आंदोलन फ्रंट’ का हुआ गठन, मुहर्रम नहीं मनाने का हुआ एलान !” पर

  1. RK October 5, 2016

    Jungle will solve jungle’s complaints to reign jungle raj.Good people observe studied silence having no solution. Premature feedom of nation is like a miscarriage to suffer always.None tries to strengthen the nation in all respects reforming reqd entire rotten systems & the constitution too.Reservation given based on castes for ten years too must be scrapped as is extended always treating it a good tool for vote bank.
    Laws are flawed. People suffer much for justice.Any person must be punished for any crime done under the state rule.
    Court defense are politicized. It is dangerous trend for state & the society. Criminals must not be allowed to participate in any political activities whereas they fight election & are made law makers to rule.Is it not joke?
    An influential man became notorious criminal & further turns politician to be MLA MP for power.He succeeds too in his mission like many others.
    A convicted mafia for life long imprisonment & is accused against over 40 grave criminal cases or more gets bail in a case.Again govt & the slain’s survivors move to SC against bail to send back jail under the provision of law.They succeeded too.Now over it agitation is done across the nation as well in overseas is not good sign for any civilized society & the nation.We must not nurture any communal & political ego to fight for wrong cause in wrong way to cause suffer & anarchy in our society & nation.

  2. Jakir Alam October 5, 2016

    Basak shahabuddin sahab ko rajneteka sikar ha yes andolan ko ha ghar tak lagana ha issaallah

  3. मोहम्मद सुल्तान हुसैन इदरीश October 5, 2016

    मोहम्मद सहाबुद्दीन बिहार में लालू यादव के राजनीती के शिकार हुवे हैं।। पूरा सरकार लालू के इशारे पर चल रहा ये कैसे मान लिया जाये की लालू के बिना मर्ज़ी सरकार सुप्रीम कोर्ट गये।। उस पर से रामजेठमलानी ने केस लड़ने के लिए हामी भरी थी जो की लालू के पार्टी के सांसद भी हैं और ये वो ही रामजेठमलानी हैं जिनको हिना साहब के बदले लालू ने चुना।। रामजेठमलानी ने किस के कहने पर सहाबुद्दीन का केस लड़ने से इंकार किया अगर लालू यादव को हमदर्दी होती तो एसा नही होता।। राजद के लोग तो शिर्फ़ वँहा का वोट बैंक के लिए नितीश के खिलाफ सामिल हो रहे और सही मानो में किसी का विरोध होना चाहिए या सरकार से बेदखल करने चाहिए तो वो लालू यादव को

  4. Pradeep Jain October 5, 2016

    शहाबुददीन एक अपराधी हैं और इसके समर्थन में आए सभी लोगो को अपराधी ही माना जाएगा ।चाहे वह किसी भी पार्टी का हो।

    • Niraj Karan. October 6, 2016

      बिल्कुल सही अपराधी को सहयोग करना अपराधी मानसिकता का परिचय है इस तरह ऐसे लोगों को भगवान बनाकर बिहार के माहौल को खराब ना करें कुछ तो करें कुछ काम करिए यह इस तरह की राजनीति से दूर रहिए राजनीति करना हो तो जात धर्म और व्यक्ति विशेष से उठकर राजनीति कीजिए

  5. परवेज़ रज़ा October 5, 2016

    बहूत गलत हुवा हमलोगों को संगठित होना होगा एक मंच के निचे नही तो हमेसा सोषित होते रहेंगे हमलोग ,बिहार में फिलहाल एक मात्र चेहरा दिख रहे थे जनाब शहाबुदिन जो हक़ की बाते बोल सके उनको भी शजीश का शिकार बना दिया गया उनके आलावा बिहार में कोई ऐसा चेहरा भी नही जिसे बोलने भी आता हो निस्वार्थ औऱ,भय मुक्त ।
    आइये हमलोग अपनी ताकत दिखाए और अपनी पहचान बनाये।

    • Niraj Karan. October 6, 2016

      परवेज राजा भाई अपनी पहचान बनाने के लिए माफिया की तारीफ करना और उस से सहयोग की उम्मीद करना यह जायज नहीं है! यदि आप अपने आप को या अपने समाज को शक्तिशाली बनाना चाहते हैं, तो इंसानियत के साथ चल कर एक दूसरे का सहयोग करें आपको भी बोलना आ जाएगा और आम आदमी को भी बोलना आ जाएगा मुझे समझ में नहीं आता ऐसे खतरनाक बाहूबली से हम लोग समाज कल्याण की बात कैसे सोचते हैं !

  6. खालिद चौधरी October 5, 2016

    आखिर ये चूक कैसे हुई कि इतना maas apeal leader माफ़िया बना दिया जाता है या एक माफ़िया को इतनी ढील दी जाती है कि वो रोबिनहूड बन जाय ॣl

  7. Danish & Wasim brothers October 5, 2016

    Shahabuddin ek acha person hai inke sath lalu aur nitesh ne mil ke bahubali Dr.shahabuddin sahab ke sath bahut badi shajish ki hai mere shahabuddin chacha bahut ache hai i love you chacha shahabuddin

    • Shahzad alam October 7, 2016

      Aise kitne gunde din dahade ghoom rahe hain jaise amit shah jisne bansal pariwar ka pura parivar ko mita diya haramkhor log uska nam kyon nahi lete usko samarthan karnewala deshbhakt kaise ho gaya?

  8. Abdul zabbar October 6, 2016

    Jo hota hai accha hota hai

    Better luck next time

    Bahut badi galti ka sikaar ho gaye sahbuddeen sahab

  9. e.ahmad October 6, 2016

    ye ek tarfa sajish hai oir ek plan ke tahat phasaya gya.pura india support kar raha hai . i love saheb

  10. हमीद आलम October 6, 2016

    मुसलमान को जान बुझ कर प्रेरित किया जता है इसका एक ही मकसद है सिर्फ और सिर्फ वोट की राजनीति करना

  11. A mallick October 6, 2016

    Pardeep jain sb bjp me to ek se ek apradhi han gujrat me 1000 musalman mare gyee kon apradhi to apne dil par hath rakhen or sochen to pora desh apradhi ho jayega bansal ki pori parivar khatam hogyee usme ek party ke bare neta ka nam arha to jitne samarthak sab apradhi muzfarnagar danga jo karwaya uske neta jail gye to uske samarthak apradhi bahot galat vichar apke han

  12. Izhar ahmed October 6, 2016

    Nitish kumar se aapil karta hu k Sahab uddin ko jail se bahar kare warna hum janta agla election me bhare bahumat se harayege Aaplog sahab uddin ko Politic k chakkar me kyu jail bheja hai Aao bolte hai wo mujrim hai yaha to janta sab khush hai sahab uddin se to janta ki suniye sahab ko jail se bahar nikalye

  13. anil kumar October 6, 2016

    Sahabudin ko apni karni ka phal mila ha kisi jati dharrm se jor kar nahi dhekhna chahia galat ka parinam yhi hota ha nayalay par biswas karna chahia

  14. Intezar Ali Khan October 6, 2016

    Muslman ke sath ye anyway naya nhi hai musalman hone ki saza hai

  15. raaz October 6, 2016

    mail Janna chahta hu jis insan ko jamanat Milne se janta me itni khusi ki lahar thi aur itna jyada Jan samarthan use prapt hua akhir wo insaan ek apradhi kaise ho sakta hai….? kuch nhi bas ye yaha ka gov ka rajnitik sajis hai gov itna jansamarhan dekhkr ghabra gya ki is insaan k bahar rahne se hamari sarkar KO ukhar fekega khair koi kuch bhi karle is insaan ne hamesha logo ki bhalai ki hai aur uska inaam ek na ek din jaroor milega use

  16. Ahamad raza October 6, 2016

    Sahabuddeen sirf raajneeti ka sikar huwa aur much nahi

  17. Ansar Ahmed October 6, 2016

    Jin logo ko tejab se jala dia hai,unka video bhi dekh lo.Musalman hone ka ye matlab nhi ki hamesha galat baato ko support karo.Aise to ISIS bhi haq ke lie lad raha hai fir???

  18. Shafi October 6, 2016

    Pardeep jain sb bjp me to ek se ek apradhi han gujrat me 1000 musalman mare gyee kon apradhi to apne dil par hath rakhen or sochen to pora desh apradhi ho jayega bansal ki pori parivar khatam hogyee usme ek party ke bare neta ka nam arha to jitne samarthak sab apradhi muzfarnagar danga jo karwaya uske neta jail gye to uske samarthak apradhi bahot galat vichar apke han

  19. Md.azhar.uddin October 6, 2016

    Sahabuddin Sirf rajniti ka sikar hua h ha quch galti usne ki lekin us se Jada usne achche kaam v kiye

  20. md shafik October 6, 2016

    Bhut sare Gunde log bhar ghum rhe hai unko jail me dalo koi rep krke koi danga krake ….our bjp me jitne neta log hai kya ye sare ache log hai…..ny ye sare criminal hai inke bare me na sarkar bol sakti nhi koi neta abha we jyada bjp me sirf gunde hai our sarkar ohi chla rhe hai our shabuddin sir ko gunda bolte agar gunda hote to itna sare log spot me ny ate ……….bus bhai main yhi khunga ki saheb sir ke sath galt ho rha hai,#### plZ spot on bhubali shaheb ……shabuddin jindabad

  21. shahid husin bilari up October 6, 2016

    yhe sirf muslmano ke sath hota hai jaha bhi koi muslim chera aata hai use dabne ke liye yhe chal chate hai aur inka makshd muslman ko badnam kar ke jalo me thos dena hai mare bhaiyo jab tak hum ek nhi hoge hamare sath esi hota rhega allah rbbul alamin hum sb muslmano ko ek kar de aur har muslmano ko phacho nawaje pabndi ke sath wa jamat ada karne ki tofik atta farma aur hume sunnto pe amal karne ki tofik atta farma fir har ek muslman ko yhe dhekna chiye ki hum voot kis parti ko de rahe hai hume sirf yhe dhekna chaye ki humari parti ka ledar uper muslman hai ki nhi jo hamari hak baat parle maent mai utha sake aur hamare liye hak ki baat kahe sake

  22. mk raj October 7, 2016

    Jas karni tas Bhog pata narak Jake Kyu pachhatata jaise ki sahabuddin ak apradi hai usko jail me rahna chahiye

  23. PREM KUMAR October 7, 2016

    muslman bhayon se appeal hai ki galat logon ko apna icon na banayen. apke pass icon ki koi kami nahin hai. 1- ABDUL KALAM…genius,2— A.R.RAHMAN , WORLD RENOWNED MUSICIAN 3– KHUSARO- POET OF ALL TIMES,4– KABIR- GREATEST SECULAR PERSON OF WORLD 5- IAS TOPPER FROM JAMMU AND KASHMIR .6- AAMIR SUBHANI IAS TOPPER FROM BIHAR….AND MANY MORE U CAN NOT COUNT.

  24. Akbar alam October 7, 2016

    sahabbudin to sher hai unko aapradhi bataya ja raha hai kyoki wo muslim hai aare muslim se kyo darte ho hindu wo

  25. mmunnaansari12 @gmail.com October 7, 2016

    Aaj kuch logo ne sahabuddin k liye.karbala me sahid huwe logo ko bhulne ki taiyyari kar rahe hai.

  26. suman kumar aditya October 7, 2016

    E sab lalu ka kam hii

  27. md mobashir khan October 7, 2016

    ye galat hy is me to seyashi baat bana dey gaye

  28. मोहम्मद हसन October 11, 2016

    सच्चाई क्या है मैं नहीं जानता °^° अपराधी किसी भी धर्म का हो अपराधी अपराधी है …फिर भी… पटना हाईकोर्ट से बेल मिलने के बाद ,,, सरकार को ऊन्हें सुधरने का मौका देना चाहिए ….?

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME