03, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

खुशखबरी… स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना को मिली मंजूरी, ऑनलाइन है आवेदन का तरीका !

student-creditcard-Nitish

पटना, 31 अगस्त : बिहार में मुख्यमंत्री नितीश कुमार के महत्वाकांक्षी योजना स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना को राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (एसएलबीसी) ने मंजूरी दे दी है। बुधवार को एसएलबीसी की 57वीं बैठक में यह योजना सर्वसम्मति से पारित हुई। यह योजना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चय में एक आर्थिक हल युवाओं का बल के तहत बनी है। योजना में उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए 12वीं पास विद्यार्थियों को चार लाख तक लोन मिलेगा। लोन के दायरे में संस्थानों की फीस, रहने-खाने और पाठ्य सामग्री के खर्च शामिल किए जाएंगे।इस योजना में बैंकों को लोन और ब्याज दोनों राशि की गारंटी राज्य सरकार देगी। जिसमें लोन पर करीब 10 फीसदी ब्याज लगेगा। जल्द ही राज्य कैबिनेट की स्वीकृति इस पर ली जाएगी। योजना इसी साल 02 अक्टूबर से लागू होगी।

ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे
विद्यार्थियों से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे। इसके लिए पोर्टल और मोबाइल ऐप विकसित किया जा रहा है।

आवेदन की जांच और सत्यापन करेगी एजेंसी

आवेदन की जांच और सत्यापन की जिम्मेदारी एजेंसी को दी जाएगी। एजेंसी की सहमति के बाद विद्यार्थी को संबंधित कागजात के साथ जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र पर आने के लिए तिथि तय की जाएगी। यह जानकारी विद्यार्थी को ई-मेल और एसएमएस से दी जाएगी। शहरों के हिसाब से तय होगा रहने-खाने का खर्च : शैक्षणिक संस्थान में हॉस्टल की सुविधा नहीं होगी तो विद्यार्थियों को रहने खाने के लिए भी लोन मिलेंगे।

शहरों का किया गया है वर्गीकरण
इसके लिए शहरों का वर्गीकरण किया गया है। हैदराबाद, दिल्ली, अहमदाबाद, बेंगलूरू, ग्रेटर मुंबई, पुणे, चेन्नई और कोलकाता ए ग्रेड में हैं। यहां रहने, खाने के लिए पांच हजार रुपए प्रतिमाह मिलेगा। बी ग्रेड के शहरों में चार हजार और सी ग्रेड के शहरों-गावों में तीन हजार के हिसाब से खर्च मिलेगा।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

12 विचार साझा हुआ “खुशखबरी… स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना को मिली मंजूरी, ऑनलाइन है आवेदन का तरीका !” पर

  1. Barun Dev August 31, 2016

    आदरणीय मुख्यमंत्री जी,
    मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि आप सभी जाती के विद्यार्थी को एक समान लाभ दीजिये ! आप ब्राहम्ण वर्ग के विद्यार्थी को बहुत कम लाभ देते है ! ऐसा मत कीजिये सर जी, क्योंकि ब्राहम्ण का बच्चा भी गरीब होता है ! धन्यवाद

  2. Rahul September 1, 2016

    Sir
    Me bhi padai karna chahta hu but I have no mony and I am also reading so please help me

  3. ashutosh upadhyay September 1, 2016

    Shi baat h barun ji Mai aapki baato se sahmat Hu or aage v bhut saare log sahmat honge …thank u

  4. saquibul basant September 1, 2016

    Hamare dce(jmit)colledge me na hi lab hai na hi
    Na hi wifi suwidha hai na hostel ki sthiti thik sub kuch barbaad hai.prhaai bhai thik nahi hoti hai

  5. birendra kumar September 1, 2016

    Sir bihar ka ladka agar phle se bahar padh rha hi to use yh labh milega kya .please reply fast

  6. saurabh kumar choudhary September 1, 2016

    It will b really helpful for all the students in need…# thnkstobiharcm

  7. sunny September 1, 2016

    are wah achi baat he nitish ji http://www.hindi-samachar.com

  8. md shakir September 1, 2016

    very nice nitish sarkar

  9. Suraj Kumar Roy September 1, 2016

    I’m student of chartered accountants… I’m from madhubani Bihar… My childhood dream of cA but I cannot do because I have no money.. I’m belongs to poor family… Mai registration to cA cpt k liye Kara liya but paisa nhi hai Ki Mai tuition bhi le saku…. Or Mai Kolkata me sdah station per rahke CA ka padhai Karta Hu.. Or khana or peena ka koi thik hai… M.n. 8981515254

  10. VIKRAM KUMAR YADAV September 23, 2016

    आदरणीय मुख्यमंत्री जी,
    मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि आप सभी जाती के विद्यार्थी को एक समान लाभ दीजिये !

  11. VIKRAM KUMAR YADAV September 23, 2016

    MAI BHEE IS SEWA KA LABH UTHANA CHAHTA HU IS SEWA KA LABH KAISE UTHAE ?

  12. Manoj kumar October 5, 2016

    Hi i am a student of 12th.Nitish sarkar ji mujhe bhi loan ki bahut jyada jaruri hai kyoki mera dreem bahut bada hai.please mera dreem pura kare ji.thanks

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME