29 अप्रैल, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

मधुबनी : सुगरवे नदी की उछाल से सैकड़ो एकड़ में लगी धान का फसल बर्बाद

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्ट
मधुबनी, 16 अक्टूबर। झंझारपुर थाना क्षेत्र में कमला कोशी के साथ सुगरवे नदी की उछाल ने भी लोगो की चैन छीन ली है। कमला में पानी कम होने से जहां कुछ राहत मिली है। वही सुगरवे का पानी कई गांव के घरो में तथा खेतों में फैल कर लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। किसानो के सैकड़ो एकड़ की फसल पानी से बर्बाद हो रहा है। रविवार को गांव एवं घरों के आंगन तक पहुंचे नदी के पानी का जायजा लेने जिप सदस्य मो. रेजाउदीन, नवानी के सरपंच रामगोपाल मंडल, उपमुखिया संजय चैपाल वार्ड सदस्य, गुलाम मुस्तफा, पंसस अनुप कश्यप आदि लोगो के साथ सीओ हेमंत कुमार दास पहुंचे। सीओ ने क्षति का जायजा लिया और बताया कि अचानक आई पानी से परेशानी है।

वहीं जिप सदस्य ने कहा कि यहां आपदा से भी विकट हालत है। प्रशासन किसानों और तबाह हो रहे लोगो को मुआवजा दे। बता दे कि सुगरवे नदी क्षुद्र नदी के रुप में जानी जाती है। जिसमें पानी की अधिकता नही रहती तथा इसके पानी से किसानों को खेती में फायदा होता आया है। मगर इस बार स्थिति पलट गई है। नवानी, परमानंद पुर, गरहा टोला, सिरखरिया पिरौलिया पंचायत के खरौआ, विस्टौल ,संगा्रम पंचायत के अरड़ीया गांव के किसानों के धान पुरी तरह डूबे हुए है। किसानों का कहना है कि धान में गंभरा आ गया है। अर्थात धान के फूल अंदर विकसित होने लगे है। ऐसे में अधिक पानी धान को पुरी तरह बर्बाद कर देगा। पानी का आलम यह है कि नवानी के चैपाल टोल से गरहा टोल होते हुए तमुरिया जाने वाली सड़क पर पानी चढ़ गया है। कई घरों के आंगन में धूसे पानी बाढ़ का नजारा दिखा रहे है।

ये भी पढे़ं:-   सुशासन बाबू... 12 वर्षों से विस्थापित बाढ़ पीड़ितों को आज भी है मुआवजे का इंतजार !

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME