06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

सुल्तानगंज में दुकानदरों ने किया हड़ताल.. नहीं मिल रहा है काँवर, डिब्बा और खाने का सामान !

fghfj

केशव कुमार की सुल्तानगंज से रिपोर्ट
भागलपुर, 24 जुलाई : झारखंड में बाबा की नगरी देवघर में सावन की शुरुआत से ही कांवरियों का तांता लगा हुआ रहता है। श्रद्धालु देवघर से करीब 108 किलोमीटर दूर बिहार के सुल्तानगंज से गंगाजल भरकर पैदल यात्रा के बाद बाबा बैद्यनाथ को जल चढ़ाते हैं। सावन महीने में शिव को गंगाजल अर्पित करने का विशेष महत्व है, यही वजह है कि महीने भर तक चलने वाले विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले में पूरा कांवड़‍िया पथ ‘बोल बम’ के महामंत्र से गुंजायमान होता रहता है। लेकिन सुल्तानगंज में इस बार प्रशासन की मनमानी के कारण कांवरियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दुकानदारों के साथ हो रही है मारपीट
सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था का दावा करने वाली जिला प्रशासन की पुलिस सुरक्षा का हवाला देकर सुल्तानगंज में दुकानदारों के साथ कई दिनों से मारपीट कर रही है। दुकानदार संजय यादव ने बताया की पुलिस दुकानदारों को काफी परेशान कर रही है, बाहर रखे सामानों को फेक दे रही है और कुछ बोलने पर मारपीट कर रही है। जिससे दुकानदारी बंद हो गई है। वहीं दुसरे दुकानदार ने बताया की पुलिस दुकानदारों को सता रही है, दुकानों को तोड़ रही है। पुलिस की मनमानी के कारण सब दुकानदार बेरोजगार हो गया है।

विरोध में दुकानदारों ने बंद किया दुकान.. गये हड़ताल पर
वहीं मिली जानकारी के अनुसार प्रशासन ने कड़ाई करते हुए दुकान का सामान अपना जगह रहते हुए भी बाहर रखने, बैनर लगाने से रोक रही है। दुकानदारों के अपने आवास के बाहर भी सामान नही रखने दिया जा रहा है। प्रशासन ने सभी दुकानदारों को सामान बिक्री के लिए रेट लिस्ट भी जारी कर दिया है। इतनी सारी पाबंदी लगाने के बाद पुलिस दुकानदारों को हर समय पिटते हुए दिखाई दे रहे है। जिसके विरोध में सुल्तानगंज के दुकानदारों ने आज रविवार सुबह से दुकान बंद कर हड़ताल पर चली गई है। दुकानदार सुल्तानगंज में कई जगहों सहित एसडीएम कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन कर रहे है।

भूखे पेट होटलों में है डेरा जमाये हुए है कांवरिये
वहीं बिहार के मिथिला क्षेत्र से बाबा बैद्यनाथ की दर्शन की इक्षा लिए पंहुचे कांवरिया मुकेश कुमार ने बताया की वह सुल्ल्तानगंज से देवघर कांवर लेकर बाबा के दर्शन के लिए जाने वाले थे लेकिन प्रशासन की बर्बरता कार्रवाई के खिलाफ स्थानीय दुकानदारों ने हड़ताल कर दिया है। जिससे कांवरियों को कांवर, जल का डिब्बा, खाने पीने का सामान भी नहीं मिल पा रहा है। प्रशासनिक पहल और हड़ताल टूटने के इंतज़ार में दूर-दूर से आये कांवरिया सब होटलों में डेरा जमाये हुए है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME