06, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

लालू जी से ट्रेनिंग ले लिया होता तो तेजस्वी को फटकार नहीं सुननी पड़ती !

patna-copy

डेस्क newsofbihar.com, 25 सितंबर। बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को हाईकोर्ट से मिली फटकार के बाद मानो पूर्व उपमुख्मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी की बांछे खिल गई। सुशील मोदी ने कहा की ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। सुशील मोदी ने आरोप लगाते हुए कहा कि लालू-राबड़ी राज में ट्रांसफर पोस्टिंग ने उद्योग का रूप ले लिया था और आज भी बिहार में उस तरह के ही हालात बन गए हैं। उनहोंने कहा कि शिक्षा विभाग में में 300 बीईओ के स्थानांतरण पर हाई कोर्ट ने रोक लगा रखी है। सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि विधायक के चिट्ठी पर वर्तमान सरकार में ट्रांसफर पोस्टिंग का खेल खेला जा रहा है।

तेजस्वी अभी जिम्मदेारियों को लेकर नौस‍िखिया हैं- हाईकोर्ट
हम आपको बता दें कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को पटना हाईकोर्ट ने कड़ी फटकार लगाते हुए कानून के दायरे में काम करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने तल्ख तेवर अपनाते हुए एक याचिका की सुनवाई के दौरान कहा कि डिप्टी सीएम को अभी पूरी तरह अपने कामों के बारे में जानकारी नहीं है और वो अपनी जिम्मेवारी को लेकर नौसिखिया है। कोर्ट ने कहा कि तेजस्वी जिस पद पर आसीन हैं उस पद की अपनी गरिमा है और तेजस्वी को अपने पद की गरिमा का ख्याल रखना चाहिए। हाईकोर्ट ने भवन निर्माण विभाग के एक सहायक अभियंता द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए उपमुख्यमंत्री को ये फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि किसी भी सरकारी कर्मचारी का तबादला किसी विधायक के कहने पर नहीं किया जा सकता। खासकर तब जब वो विधायक उसके क्षेत्र से भी नहीं आता हो।

क्या है पूरा मामला ?
दरअसल रीगा के विधायक अमित कुमार टुन्ना ने भवन निर्माण विभाग के सहायक इंजीनियर अरविंद कुमार सिंह के तबादले के लिए डिप्टी सीएम को चिट्ठी लिखा था। विधायक अमित कुमार टुन्ना ने तबादले के लिए 15 जून को चिट्ठी लिखा था और 30 जून को अरविंद कुमार सिंह का तबादला पीएमसीएच के भवन निर्माण विभाग से पटना में किसी दूसरे जगह पर कर दिया गया। इसी तबादले के खिलाफ अरविंद कुमार सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया था।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

 
 

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME