10, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

टीईटी शिक्षक संघ ने 15 सूत्री मांगो के साथ विधायक को सौंपा ज्ञापन

Begusarai-teacher

टीईटी-एसटीईटी शिक्षक संघ ने नगर विधायक को सौंपा ज्ञापन।कृष्ण कुमार कि रिपोर्ट
बेगूसराय, 26 अगस्त : बिहार में दिसंबर 2011 में राज्य सरकार के द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन किया गया था। राज्य भर के 26 लाख परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल हुए थे। और महज 1.47 लाख परीक्षार्थी को सफलता मिली थी। उस वक्त बिहार के तत्कालीन मानव संसाधन मंत्री पीके ठाकुर ने टीईटी का रिजल्ट जारी करते हुए, बड़े आत्मविश्वास के साथ कहा था की प्राथमिक शिक्षा में कुल रिक्तियां 1.65 लाख है। इसिलिए टीईटी पास करने वाले सभी 1.47 लाख अभ्यर्थियों को नौकरी दी जायेगी। लेकिन उसके 4 साल बाद भी हकीकत कुछ और ही है। पिछले दिनों राज्य सरकार खुद हाइकोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा की अभी भी वर्ग 1-8 में 85 हजार पद रिक्त है। यानि सरकार ने नियोजन इकाई को एैसा घूमाया की आज भी लगभग 70 हजार टीईटी पास अभ्यर्थी को नौकरी की तलाश है। जबकि मार्च 2019 में टीईटी सर्टिफिकेट की मान्यता भी खत्म हो रही है। वहीं नौकरी पा चुके टीईटी एसटीईटी धारकों को पहले तो काफी संघर्ष के बाद सरकार ने वेतनमान देने का फैसला किया। लेकिन बेसिक और ग्रेड पे की घोषणा महज छलावा साबित हो रहा है। सभी शिक्षकों को 2 साल की नौकरी के बाद ग्रेड पे मिलेगा वो भी सिर्फ प्रशिक्षित को। इस सन्दर्भ में अपने 15 सूत्री मांग को लेकर टीईटी एसटीईटी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष राजू सिंह के नेतृत्व में शिक्षकों का एक प्रतिनिधिमंडल आज बेगूसराय नगर विधायक सह महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष अमिता भूषण से मिला। शिक्षकों ने विधायक को अपनी मांग से अवगत कराया जिसमे सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को प्रशिक्षण दिलाने एवं सभी को ग्रेड पे भविष्य निधि की राशि देने वेतनमान 9300-34800 करने समेत अन्य मांग हैं। जीविका की अनपढ़ दीदी के द्वारा शिक्षकों का मूल्यांकन करने के राज्य सरकार के निर्णय का भी विरोध किया है। नगर विधायक ने जल्द ही शिक्षकों को शिक्षा मंत्री से मुलाकात कराने और उनकी मांगो पर गम्भीरता से विचार करने का आश्वासन दिया है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें  

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME