05, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

यूनिफार्म सिविल कोड के जरिये मुसलमानों के धर्म में राजनैतिक हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं: काजी हब्बिबुल्लाह

jhanjharpur-muslim

सरफराज सिद्दीकी की रिपोर्ट

मधुबनी , 12 नवंबर। झंझारपुर अनुमंडल के अंधरा ठाढ़ी प्रखंड में मुस्लिम धर्म के लोगों ने एक जलसा किया, तीन तलाक अल्लाह का बनाया कानून है जिसे कोई सरकार या इंसान नहीं बदल सकता। कुराने पाक में कही बातें अल्लाह का आदेश है। इस्लामी शरियत में किसी भी प्रकार की दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। केंद्र सरकार अनावश्यक रूप से तीन तलाक का मुद्दा उठाकर इस्लामी शरियत के साथ खिलवाड़ कर रही है। ये बातें कही मधुबनी जिला के काजी हब्बिबुल्लाह ने। वे अंधराठाढ़ी के मदरसा तहजीबुल मकतब अंधरा बाजार के प्रांगन में बुधवार को आयोजित मुसलमानों के धार्मिक जलसा इशलादे मुआशरा एवं तक्क्बुज शरियत कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा केंद्र सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए इस तरह के सगुफे छोड़ रही है। कामन सिविल कोड के खिलाफ मुसलमानों में भारी आक्रोश है। इस जलसे में दारुल कला मधुबनी के काजी जनाब मो. हबिबुल्लाहअंधरा ठाढ़ी।
इस जलसे में दारुल कला मधुबनी के काजी जनाब मो हबिबुल्लाह, काजी मो. रिजवान, मो. अजिमुर्रब, मौलाना मुफ्ती रुसुल्लाह, तव्वाब अंसारी, कमरुजमा तैयब रजा सहित मुस्लिम समाज के कई गणमान्य लोग शामिल हुए। वक्ताओं ने एक सुर से तीन तलाक और सम्मान नागरिक संहिता के द्वारा मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुँचाने का आरोप लगाया। वक्ताओं ने दो टूक कहा की देश में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और शरियत में राजनितिक दखलंदाजी को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस जलसे में प्रखंड के हजारों मुस्लिम पुरुष और महिला शामिल हुई। सभा स्थल पर तिल रखने की भी जगह नहीं थी। हाल फिलहाल इस तरह का जलसा कही देखने में नहीं आया था। छोटे छोटे बच्चे, महिलाएं युवक से लेकर बुजुर्ग तक इस जलसे में शामिल होने के लिए दूर दूर से आये थे। आयोजक मो अमानुल्लाह नदवी मो मोइनुल्लाह नोमानी मो ईशा मो मुमताज आलम,शाहीन ईकबाल, मो निजामुद्दीन गुलाम हैदर डॉ मो तारिक अनवर अब्दुल मोजिब हाफिज गुलाम सरबर मो सकील हाजी मो जियुर्रह्मान सहित दर्जनो युवा विधि व्यवस्था में पुरे जोशो खरोश से जुटे थे।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME