28 अप्रैल, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

‘विधायक’ को हाई कोर्ट से जमानत मिलने के बाद दहशत में दुष्कर्म पीड़िता का परिवार !

31f7b54000000578-3481258-im

पटना, 4 अक्टूबर। नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म के मामले में नवादा विधायक राजवल्लभ प्रसाद को पटना हाईकोर्ट ने शुक्रवार को जमानत दे दिया था। जिसके बाद से पीड़िता और उसका परिवार दहशत में आ गया है। सोमवार को पीड़िता ने कुछ पत्रकारों को वाट्सएप मैसेज कर अपनी पीड़ा बयां की। पीड़िता ने अपने संदेश में कहा कि वो बाहर आ गया है, मैं तो पहले ही मर चुकी हूं। अब मेरे परिवार का क्या होगा। मैं यह संदेश अखबारों के माध्यम से मुख्यमंत्री तक पहुंचाना चाहती हूं। मेरा कॅरियर तो समाप्त हो चुका है। अब मेरा व मेरे परिवार के जीने का कोई मकसद नहीं रह गया। उससे पुलिस भी डरती है। हमलोग तो उसके सामने कुछ भी नहीं हैं। वो हमें और हमारे परिवार को मार सकता है। वहीं पुलिस कप्तान कुमार आशीष ने कहा कि विधायक के जमानत के बाद पीड़िता की सुरक्षा को बढ़ाकर सुरक्षा बल लगा दिया गया है। जिससे पीड़िता और उनके परिजनों को डरने की कोई जरूरी नहीं है। मैं खुद एक-दो दिन पर जाकर उनके परिजनों और पीड़िता से बातकर करके पहुंचता हुं कि क्या कोई केस उठाने की धमकी भी दे रहा है। अगर ऐसा हुआ तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

आपको बताते चले कि उन्हें शर्त के आधार पर जमानत दी गयी है। नवादा की पुलसि ने राजवल्लभ प्रसाद के खिलाफ आरोपपत्र भी दायर कर चुकी है। हाइकोर्ट ने जमानत देते हुए उन्हें जिला अदालत के क्षेत्राधिकार से बाहर जाने पर रूक लगा दिया है। इस केस में आरोपित होने के बाद राजद ने राजवल्लभ को पार्टी से निलंबित कर दिया था। राजवल्लभ प्रसाद इस केस में काफी दिनों तक फरार रहने के बाद बिहारशरीफ कोर्ट में सरेंडर किया था। उसके बाद से ही वह जेल में बंद थे।

जानकारी के अनुसार उनके ऊपर एक छात्रा ने जन्मदिन की पार्टी के बहाने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। दुष्कर्म का यह मामला इसी साल 6 फरवरी का है। बिहारशरीफ के धनेश्वर घाट मुहल्ला स्थित पड़ोस की एक महिला ने पीड़िता को जन्मदिन की पार्टी के बहाने विधायक के हवाले कर दी थी।

ये भी पढे़ं:-   मिथिला महोत्सवः मधुबनी में दो दिवसीय रंगारंग आगाज, मिथिला पेंटिंग सहित कई हैं मेले के आकर्षण

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME