बिहार में यहां बन रहा है वीवीपैट रखने के लिए गोदाम! लागत है दो करोड़ से ज्यादा

vvpat godown in bihar will construct soon
evmand-vvpat
Advertisement

छपरा। चुनावो में इवीएम के साथ वीवीपैट सिस्टम लागू करने को लेकर केन्द्र सरकार ने पहल तेज कर दी है। सरकार 2019 के चुनावो में ईवीएम के साथ वीवीपैट (वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल) लगाया जाएगा। वही सुप्रीम कोट्र का भी यह आदेश है कि वीवीपैट को चुनावो में पूर्ण रुप से लागू किया जाए।

इसको देखते हुए बिहार राज्य निर्वाचन आयोग ने जिला मुख्यालय में छह हजार वीवीपैट रखने की क्षमता वाले गोदाम निर्माण कराने का आदेश दिया गया है। बता दे कि इस गोदाम का निर्माण दो करोड़ आठ लाख रुपये की लागत से होंगा। इस बारे में भवन प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता उपेंद्र कुमार चंद्रवंशी की माने तो इसे लेकर जल्द हीं निविदा की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

ये भी पढे़ं:-   बीमार पिता से मिलने पहुंचे तेजस्वी, बताया गिरता स्वास्थ्य सबके लिए चिंता का विषय है

बता दे कि देश के सीाी चुनावो में सिर्फ पंचायत चुनाव को छोड़कर ईवीएम का उपयोंग होता है। इसे लेकर आरोप- प्रत्यारोप लगते रहे हैं। विपक्षी पार्टी ईवीएम को हैक करने का भी आरोप लगाती रहीं है। वहीं चुनाव आयोग इन आरोपो को खारिज करता रहा है। इसी को देखते हुए ईवीएम के साथ वीवीपैट भी लगाने का निर्णय लिया गया है। अब कोई भी चुनाव बिना वीवीपैट के ईवीएम पर नहीं कराए जाएंगे।

चुनावो में इसके उपायों को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने ईवीएम के साथ वीवीपैट रखने का आदेश दिया है। जिलों में इसे रखने के लिए सुरक्षित स्थान नहीं है इस लिए इस गोदाम का निर्माण कराया जा रहा है। बता दे कि छपरा में बन रहे इस गोदाम में छह हजार वीवीपैट रखने की क्षमता होंगी। इसके लिए भूमि का चयन करने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। सदर प्रखंड कार्यालय के पास ईवीएम गोदाम है। वहीं वीवीपैट मशीनें रखने के लिए गोदाम का निर्माण कराया जाएगा।

ये भी पढे़ं:-   दो शख्स ने दिया इंसानियत का परिचय, रेल से गिरी महिला और बच्ची का बचाया जान

क्या है वीवीपैटः- वीवीपैट (वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल ) व्यवस्था के तहत वोटर डालने के तुरंत बाद कागज की एक पर्ची बनती है। इसपर जिस उम्मीदवार को वोट दिया गया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न छपा होता है।

Advertisement