21 फ़रवरी, 2017
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

पहले नीतीश ने और अब नमो ने…बहुत याराना लगता है !

modinitish

न्यूज़ ऑफ बिहार डेस्क !
पटना 17 दिसम्बर ।

नोटबंदी से कालेधन पर कितना रोकथाम लग पाया है ये तो आने वाले वक्त में पता चल पाएगा लेकिन इस नोटबंदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार के रिश्तों में आई कड़वाहट को जरूर दूर कर दिया है। नोटबंदी के फैसले पर नीतीश कुमार ने मोदी सरकार की तारीफ कर सबको चौंका दिया था क्योंकि महागठबंधन सरकार में शामिल आरजेडी और कांग्रेस इसका पुरजोर विरोध कर रही है। नीतीश कुमार के बाद अब बारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की थी और संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम ने नीतीश कुमार की खुलकर प्रशंसा कर दी। पीएम मोदी ने कहा कि मैं बिहार के सीएम नीतीश कुमार और ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक का आभार व्यक्त करता हूं। कई और लोग हैं जो खुलकर हमारे सामने आए हैं। मैं चाहता हूं कि इस जंग में जो भी साथ दे रहे हैं उनको साथ लेकर आगे बढ़ना है।

हम आपको बता दें की इसी साल 23 अगस्त को सीएम नीतीश कुमार और पीएम नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों की गैर मौजूदगी में अकेले बातचीत की थी। बंद कमरे में हुई इस मुलाकात में दोनों ही नेताओं की बॉडी लैंग्वेज से साफ महसूस किया जा सकता था कि मन की कड़वाहट दूर हो चुकी है। और तो और इस मुलाकात के बाद मोदी जब नीतीश को छोड़ने आए तो दोनों एक दूसरे का हाथ थामे नजर आए। माना जा रहा है कि इस मुलाकात के बाद नीतीश कुमार का तेवर बदला-बदला सा नजर आने लगा। नीतीश कुमार ने मोदी सरकार की योजना नमामी गंगे की तारीफ भी की थी। नीतीश कुमार के नोटबंदी को समर्थन करने के बाद अटकलें तेज हो गई थी की क्या फिर से जेडीयू एनडीए में शामिल होने जा रही है हालांकि नीतीश कुमार ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा था इस तरह की खबरें प्रचारित कर उनके विरोधी उनकी राजनीतिक हत्या करना चाहते हैं। खैर..ये राजनीति ही है और किसी ने सच ही कहा है कि राजनीति में ना तो कोई स्थाई मित्र होता है और ना ही स्थाई शत्रु।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME