18 अगस्त, 2017
To Advertise on this Website call Us on 9155705448, 8130906081
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

हाय रे अभागिन; अपने ही हाथों मिटा लिया माथे का सिंदूर

samsatipur-mahila-ki-pitai

NOB Desk, समस्तीपुर।

घर में होने वाले कलह से तंग आकर बिहार के समस्तीपुर जिले के वारिसनगर के एकद्वारी गाँव की उषा ने अपने ही हाथों मिटा लिया अपना सिंदूर। बेटे बेटी के साथ मिलकर पति अशोक पासवान को लोहे के रोड से पीट उसकी जान लेने वाली उषा को गुस्साई भीड़ ने बेरहमी से पीटा। उषा ने अशोक के सिर पर लोहे के रॉड से वार किया। सिर पर वार होते ही अशोक गिर पड़ा और बेहोश हो गया। उसके सर से खून का फव्वारा निकलने लगा। अशोक की गंभीर हालत देख गाँव वाले अशोक को हॉस्पिटल ले गए। हॉस्पिटल पहुँचने से पहले ही अशोक ने दम तोड़ दिया। खून बहुत ज्यादा निकल जाने के कारण रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। पिता की हत्या के बाद से बेटा घर छोड़कर फरार है और माँ छुप गई।
यह घटना रविवार सुबह की है। घर में पत्नी के साथ हुए विवाद के बाद अशोक गांव के चौक पर आकर चाय पी रहा था तभी उषा बेटे-बेटी के साथ वहां पहुंच गई। तीनों के हाथ में लाठी और लोहे का रॉड था। चौक पर आते ही तीनों अशोक पर टूट पड़े और बेरहमी से उसे मारने लगे। इसी दौरान उषा ने अशोक के सिर पर वार कर दिया, जिससे उसकी मौत हुई।
सरेआम अशोक की हत्या किये जाने से ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों ने हत्या करके के भागी अशोक की पत्नी उषा देवी को घर से बाहर खिंच कर निकाला। पुरे गाँव के लोग अशोक के घर के बाहर जुटे थे। कुछ युवकों ने लाठी से उषा की बेरहमी से पिटाई की। जमीन पर पड़ी महिला दर्द से चीखती रही। लेकिन अशोक की हत्या से गुस्साए लोगों ने उसकी चीख पर ध्यान दिए बिना उसको पीटना जारी रखा।
लोग इतने गुस्से में थे की पिटाई के वक़्त जब एक थकता तो दूसरा उसके हाथ से लाठी लेकर उषा को पीटने लगता। लोगों द्वारा बुरी तरह पीटे जाने के बाद महिला बेहोश हो गई लेकिन लोग तब भी उसे छोड़ने को तैयार नहीं थे। बेहोशी की हालत में भी उसके ऊपर लाठियां बरसती रहीं।
पिटाई से गंभीर रूप से जख्मी महिला को गांव के लोग सदर अस्पताल ले गए। यहां के ऑन ड्यूटी डॉ जयकांत ने महिला की स्थिति को देखते हुए उसे डीएमसीएच रेफर कर दिया। दूसरी ओर पुलिस ने महिला की बेटी सरिता को हिरासत में ले लिया है।
बताया जाता है की रविवार सुबह पारिवारिक विवाद में अशोक पासवान का उसकी पत्नी और बच्चों से झगडा हुआ था। पारिवारिक विवाद के कारण अक्सर अशोक का उसके परिवार के सदस्यों से झगडा होता था। घटना के बाद गाँव में तनाव की स्थिति है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए वारिसनगर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद ने गाँव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया है। साथ ही मामले की प्राथमिकी दर्ज कर अनुसन्धान शुरू का दिया है। वहीं, ग्रामीणों का कहना है की महिला का किसी अन्य पुरुष से सम्बन्ध था, जिसके चलते आयेदिन घर में विवाद होता रहता था। उषा का लम्बे समय से अपने पति से झगडा चल रहा था। उषा ने पति के खिलाफ दहेज़ उत्पीडन का केस भी दर्ज कराया था। दहेज़ उत्पीडन के केस में अशोक एक महिना जेल भी गया था और जमानत पर बाहर आया था।

ये भी पढे़ं:-   स्कूल में अचानक पंहुचे डीएम, भूख लगी तो बच्चों के साथ बैठकर खाया खिचड़ी !

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

loading...

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME