09, Dec, 2016
ब्रेकिंग न्यूज़

NEWS OF BIHAR

भाभी से नाजायज संबंध के खुलासे के बाद पति कर रहा है सास को बदनाम !

newsofbihar-03

मधुबनी, 08 सितम्बर : दहेज उत्पीड़न का सिलसिला आज भी बिहार में अपने चरम स्थिति पर है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि घनश्यामपुर थाना क्षेत्र के जयदेवपट्टी गांव की रहने वाली पुष्पा (24) को उसके पति समेत पूरे परिवार द्वारा मारपीट औऱ गाली गलौज आए दिन किया जा रहा है।
दरअसल मामला यह है कि मधुबनी जिला के भेजा थाना अन्तर्गत टेंगराहा गांव की रहने वाली पुष्पा की शादी 2014 में जयदेवपट्टी गांव के निर्भय नारायण झा के पुत्र बब्लू झा से हुआ था। शादी के कुछ दिनों बाद से ही पुष्पा के माता-पिता पर दहेज की रकम नहीं देने पर लड़की को ससुराल में नहीं रखने की धमकी दिया जा रहा था। इसके कारण लड़की की मां घनश्यामपुर थाना में कई बार जाकर शिकायत भी कर चुकी थी। लेकिन मामले की सुनवाई न होने पर लड़की की मां ने मीडिया की मदद ली। इसके बाद थाना प्रभारी द्वारा एफआईआर भी पिछले पहीने ही दर्ज कर लिया गया था। इसके साथ ही बिरौल स्थित एसडीपीओ कार्यालय में भी शिकायत किया जा चुका था। इस मामले को दरभंगा के एसएसपी सत्यवीर सिंह के यहां भी शिकायत पहले की किया जा चुका है। इन सभी की रीसिविंग कॉपी लड़की की मां के पास मौजूद हैं।

मामले को लेकर गुप्त रूप से लड़की से हुई बातचीत में लड़की ने बताई कि उसे नियमित पीटा जाता है औऱ गाली गलौज किया जाता है। इसके साथ ही लड़की से मिलने भी किसी को नहीं दिया जाता है। उसे कैदी की तरह बंदी बनाकर रखा गया है। बीते रक्षाबंधन में मिलने गए उसके भाई को भी बहन से बिना राखी बंधवाए औऱ मिले ही मारपीट कर भगा दिया। साथ ही भाई के गले से सोने का चेन औऱ दो हजार रुपये भी ले लिए गए हैं। इतना ही नहीं लड़की का फोन भी छीन लिया गया है औऱ अब उसे जान से मार देने की योजना उसका पूरा परिवार कर रहा है।
लड़की पूष्पा का कहना है कि उसके पति बब्लू झा का नाजायज संबंध उसकी जेठानी ललिता देवी से है। शादी के कुछ दिनों तक तो वह देखती रही लेकिन जब यह उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने अपनी मां से यह बात कही। जब लड़की की मां ने इस बारे में अपने दामाद से जानने की कोशिश की तो लड़का अपने सास को ही बदनाम करने लग गया है।

newsofbihar.com की ख़बरें अपने न्यूज़फीड में पढ़ने के लिए पेज like करें

newsofbihar

अपने विचार साझा करें

आवश्यक लिखें चिह्नित:*

Powered By Indic IME