उत्त्तर बिहार में बाढ़ ने दी दस्तक, दर्जनों गांवो में चारोओर से घुसा पानी

flood-in-north-bihar-2
flood-in-north-bihar-2
Advertisement

बेतिया/मधुबनी। मानसून के आने के बाद बिहार के कई जिलो में भारी बाशि हो रही है। बरसात की शुरुआत होते ही बिहार केकई जिलो में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है।

बात अगर उत्तर बिहार की करें तो ऐसा लगने लगा है कि यहां के इलाको में बाढ़ जलद ही अपना विकराल रुप दिखा सकता है। एक ओर जहां पश्चिम चंपारण के दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी चहुंओर से घुस गया है। तो वही मधुबनी जिले के लदनियां प्रखंड में भी बाढ़ का असर देखने को मिला हैं।

जानकारी के अनुसार पश्चिमी चंपारण के कई इलाको में पहाड़ी नदियों का पानी मैदानी इलाकों में भर चुका है। वही लगातार बारीश के कारण गंडक का जलस्तर भी बढ़ गया है। रुक-रुक कर हो रही बारिश से भी जहां-तहां जलजमाव होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मधुबनी में एक ओर जहां धौरी नदी का पानी सड़क पर चढ़ने से डायवर्सन टूट गया, वहीं बारिश से सड़क का कटाव होने से एनएच-104 बंद कर दिया गया है।

flood-in-north-bihar-2018
flood-in-north-bihar-2018

पश्चिमी चंपारण के कई गांव बाढ़ के पानी से घिर गए है। नदियों के किनारे के बाशिंदे बाढ़ के आने से खौफजदा हैं। ओरिया पंडरी समेत सभी पहाड़ी नदियां उफान पर हैं। नदियों में आये बाढ़ के पानी से मैदानी इलाके जलमग्न हैं। पिछले 48 घंटे से रुक-रुक कर हो रही बारिश से एक तरफ जहां जगह-जगह जलजमाव हो गया है, वहीं गंडक जैसी नदियों को पानी उफान पर है।

जिले के गौनाहा मैनाटांड सिकटा प्रखंड के दर्जनों गांव से घिर गए हैं। बाढ़ का पानी आने के कारण लोंगो का रात में सोना भी दसवार हो गया है। लिहाजा लोंग रतजगा करने लगे हैं। कई लोग अपना सामान सहेज कर पलायन की तैयारी करने लगे हैं. इधर, संवेदनशील इलाकों में एनडीआरएफ की टीम तैनात कर दी गयी है। आपको बता दे कि सोमवार को एनडीआरएफ की टीम पानी में डूब रहे तीन लोगों को को बचाया था।

ये भी पढ़े  बिहार के नक्सल प्रभावित जिलों के लिए नीतीश ने दिए इतना करोड़ रूपया जानिए

मधुबनी जिले के लदनियां थाना क्षेत्र के तेनुआही से जयनगर तक जानेवाली एनएच-227 पर योगिया और पद्मा गांव के बीच बाढ़ का पानी आने के कारण धौरी नदी पर तत्काल यातायात को लेकर बनाया गया डायवर्सन टूट गया है. वहीं, तेनुआही चैक के समीप बना निर्माणाधीन पुल को टूटने के कारण सड़क संपर्क भंग होने से पिछले दो दिनों से उक्त सड़क पर वाहन परिचालन बंद हो गया है।  

flood-and-bihar-goverment
flood-and-bihar-goverment

धौरी नदी के जलस्तर में हुई बढोतरी के कारण सोमवार को डायवर्सन बह जाने से वाहन परिचालन बंद हो गया है। इस कारण लोगों को अपने गंतव्य स्थान तक सफर करने में काफी दिक्कत हो रही हैं। लोगों में काफी आक्रोश भी देखा जा रहा है। आक्रोशित लोगों का कहना है कि बरसात पूर्व ससमय यदि धौरी नदी पर पुल का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया होता, तो शायद ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here