झंझारपुर में शनिवार को होगी एडीजे कोर्ट की स्थापना, तैयारियां पूरी

Advertisement

झंझारपुर में एडीजे कोर्ट की स्थापना कल शनिवार को होगी। यहां के कोर्ट भवन को रंग रोगन कर दुल्हन की तरह सजाया गया है। अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष रामफल महतो ने जानकारी दी है कि हाईकोर्ट के निरीक्षी न्यायमूर्ति नीलू अग्रवाल की उपस्थिति में 21 जुलाई को एडीजे कोर्ट की उद्घाटन का सारा कार्यक्रम अधिवक्ता संघ परिसर में संपन्न किया जाएगा।

ज्ञात हो कि झंझारपुर एवं फुलपरास अनुमंडल के लोगों की दो दशक पूर्व से चली आ रही एडीजे कोर्ट की मांग को पूरा होने का समय अब नजदीक आ चुका है। एडीजे कोर्ट की मांग को पूरा कराने के लिए स्थानीय अधिवक्ता संघ द्वारा दर्जनों बार प्रयास किया गया था। एडीजे कोर्ट की स्थापना के बाद न केवल वादों के निपटारे में सहुलियत होगी। बल्कि झंझारपुर एवं फुलपरास अनुमंडल क्षेत्र के सूदूर ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले पक्षकारों को भी समय और पैसों की बचत होगी।

अधिवक्ता संघ के महासचिव दीपक टिवड़ेवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि झंझारपुर में स्थापित होने जा रहे एडीजे कोर्ट के प्रथम एडीजे त्रिलोकी दूबे बनाए गए हैं। जबकि, इस कोर्ट के प्रथम एपीपी विपिन कुमार झा को बनाया गया है। अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष रामफल महतो ने एडीजे कोर्ट की स्थापना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि इससे लोगों को न्याय मिलने के साथ ही पैसा और समय की भी बचत होगी एवं कई मामलों में न्याय के लिए उन्हें मधुबनी कोर्ट नहीं जाना पड़ेगा।