अयोध्या जमीन के लिए निकले जुलूस में देश विरोधी नारे लगाए गए

desh news
Advertisement

वरुण ठाकुर की रिपोर्ट-

अयोध्या के जमीन के लिए जहां लड़ाई मंदिर व मस्जिद की ठनी हुई है, उसी जमीन के लिए धर्म के लोगों द्वारा हिंदुस्तान की भी बलि चढ़ा देते है। जी हां सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के तत्वावधान में बाबरी मस्जिद की 26वीं बरसी पर निकले जुलूस में देश विरोधी नारे लगाए गए। घटना की बाबत सदर बीडीओ रवि कुमार सिन्हा के बयान पर लहेरियासराय थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें पार्टी के महासचिव मो. महबूब आलम सहित अज्ञात 60-70 लोगों को नामजद किया गया है। एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि कुछ उपद्रवी तत्वों की जानकारी मिली है, जिसके आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है, कुछ लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई। इसकी अभी जांच होनी बांकी है। सबसे बड़ी बात तो ये रही कि वहां सुरक्षा बल भी मौजूद थी, जिसके वाबजूद वहां इस तरह की हरकतें की गई। बताया गया कि सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के बैनर तले बाबरी मस्जिद निर्माण को लेकर जुलूस किलाघाट से करमगंज होते हुए लहेरियासराय स्थित समाहरणालय पहुंची। इसमें शामिल लोग देश विरोधी नारे लगाने लगे। इसकी सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। सदर प्रखंड के बीडीओ को प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया गया। खास बात यह कि नारेबाजी पुलिस की उपस्थिति में हुई। जुलूस के साथ सुरक्षा बल चल रहे थे। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि बाबरी मस्जिद का निर्माण विवादित भूमि पर किया जाए। उन्‍होंने अदालत में आस्था जताते हुए कहा कि फैसला उनके ही हक में आएगा। नेताओं ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव ने तब बाबरी मस्जिद बनाने की बात मान ली थी, लेकिन यह आश्‍वासन पूरा नहीं हो सका।
देश में रहकर लगाए देश विरोधी नारे ये कतई बर्दाश्त नही..
घटना से शहर में तनाव पैदा हो गया है। पुलिस एहतियातन सतर्क है। जिला पुलिस अधीक्षक गरिमा मल्लिक ने कहा कि आपत्तिजनक नारेबाजी की सूचना पर एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। उधर, दरभंगा के भाजपा विधायक संजय सरावगी ने आरोपियों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज कर उन्‍हें गिरफ्तार करने की मांग की है। विधायक ने स्‍पष्‍ट कहा कि जिस देश में जन्‍म लिए, उसका कोई मुर्दाबाद करे, यह बर्दाश्‍त से बाहर है।