सत्तारूढ़ दल का अहंकार भारत को नाज़ी जर्मनी में तब्दील कर देगा: मिसा भारती

Advertisement

कथित रूप से बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं के द्वरा सामाजिक कार्यकर्त्ता स्वामी अग्निवेश के साथ की गई मार-पिट और गाली-गौलोज का चारो तरफ से विरोध हो रहा है। राजद नेत्री व् राज्यसभा संसाद मिसा भारती ने भी इस अमानवीय घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

वो अपने ट्विटर हैंडल पर बड़े ही तल्ख़ अंदाज में लिखती हैं “स्वामी अग्निवेश से किसी पार्टी के वैचारिक मतभेद हो सकते हैं पर इसका यह मतलब नहीं कि अपने गुंडे भेज कर मॉब लिंच करवाने का प्रयास करवाया जाए! सत्तारूढ़ दल का अहंकार भारत को नाज़ी जर्मनी में तब्दील कर देगा। पर याद रहे कोई अमृत पीकर नहीं आया! हिटलर भी मिट्टी में मिला, उसका अहंकार भी!”

आज मंगलवार को स्वामी अग्निवेश को पाकुड़ जिले के लिट्टीपाड़ा में पहाड़िया समुदाय की एक सभा को संबोधित करने वाले थे। यह सभा अखिल भारतीय आदिम जनजाति विकास समिति दामिन दिवस के 195वें वर्षगांठ पर आयोजित की गयी थी। बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश के दौरे का विरोध कर रहे थे और ‘अग्निवेश गो बैक’ के नारे लगा रहे थे। विरोध प्रदर्शन और काला झंडा दिखाने से शुरू हुआ मामला सिर्फ धक्का-मुक्की तक ही नहीं, बल्कि लात-जूतों तक पहुंच गया। स्वामी अग्निवेश को धकेल कर नीचे गिरा दिया। उनके कपड़े फाड़ दिए गए, पगड़ी खोल दी गई। इस दौरान बीजेपी युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने स्वामी अग्निवेश के खिलाफ नारे लगाए- जय श्री राम, अग्निवेश भारत छोड़ो, अग्निवेश पाकुड़ में नहीं रहना होगा।

गौरतलब है कि मंगलवार को ही सुप्रीम कोर्ट ने मॉब लिंचग पर सरकार की आलोचना करते हुए सख्त निर्देश जारी किए हैं। उसके बावजूद इस तरह की घटना का होना ये दर्शाती है कि सत्ता के नशे में चूर कार्यकर्ताओं को देश के कानून और अदालत का कोई भय नहीं है। बीजेपी को यह समझना होगा इस तरह की घटना न तो देश के लिए सही है और न हिन् उनकी पार्टी के लिए।