वीसी ने केंद्रीय विश्वविद्यालय को किया अनिश्चत काल के लिए बंद, जानिए क्या है कारण ?

Advertisement

मोतिहारी स्थित महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय में लम्बे समय से चल रहे विवाद के मद्देनजर कुलपति डॉ. अरविंद अग्रवाल ने विवि को अनिश्चितकाल के लिए बंद करने की घोषणा कर दी है। यहां चल रहे आंदोलन व असुरक्षा का हवाला देते हुए कहा कि 20 अगस्त 2018 से विवि अनिश्चत काल के लिए बंद रहेगा। कुलपति ने केंद्रीय विवि अधिनियम 2009 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए अभी यहां कायम प्रतिकूल परिस्थितियों के आलोक में यह निर्णय लिया है। कुलपति ने कहा कि वर्तमान में यहां शैक्षणिक कार्य का संचालन संभव नहीं है।

हाल में विवि के समाजशास्‍त्र के प्रोफेसर संजय कुमार द्वारा फेसबुक पर अटल बिहारी बाजपेयी को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी से आक्रोशित लोगों ने उनकी पिटाई कर दी थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इससे स्थिति और तनावपूर्ण हो गई है। इस बाबत दोनों पक्षों ने प्राथमिकी कराई है। इस घटना को लेकर विपक्ष भी हमलावर हो गई थी। तेजस्वी ने तंज कसते हुए पूछ था कि नीतीश जी आप सीएम हाउस में आरएएसएस की शाखा खोलकर सरसंघचालक क्यों नहीं बन जाते।

इससे पूर्व भी यह विश्वविद्यालय आंदोलन का केंद्र बन गया था। विश्वविद्यालय के प्रोफेसरों के एक गुट ने कुलपति के खिलाफ महीनों आंदोलन किया था। बैठक के बाद आंदोलन को समाप्त कर स्थिति को सामान्य किया गया था। इसी बीच फेसबुक प्रकरण ने विश्वविद्यालय की स्थिति को असामान्य कर दिया।

ताजा स्थिति में विश्वविद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं का भविष्य अधर में लटक गया है। अचानक विवि बंद होने के कारण पढ़ाई बाधित होगी। सत्र भी लेट हो जाएगा। नामांकन भी अन्यत्र नहीं हो सकता। नए सत्र में प्रवेश के लिए इंतजाररत छात्र-छात्राओं को निराश होना पड़ रहा है।

आपको बता दें कि प्रोफेसर ने इस मार-पिट के पीछे वीसी का हाथ बताया था। उन्होंने कहा था कि लम्बे समय तक उनके खिलाफ आन्दोलन करने के कारण वीसी अपने गुर्गे से हमारी पिटाई करवाई है।