बिहार के 14 साल के लाल से गूगल है प्रभावित, बच्चे ने तीन एप बना कर गूगल पर राज करने वाला है |

aryan
Advertisement

पटनाः बिहारी प्रतिभा की लोहा हमेशा ही दुनिया मानती आ रही है | फिर एक बार गूगल बिहार के लाल सिर्फ 12 साल के आर्य़न का लोहा माना है | इस बच्चे की काबिलीयत जानकर आप हैरान हो जाएगें |

हलांकि 14 साल के आर्यन ने कभी सोचा भी नहीं था कि जिस चीज को व खेल-खेल में बना लिया है | जिसके बाद उस तीन एप को गूगल को भेजा दिया है | जिस पर अब गूगल रिसर्च कर रहा है | और अब आर्यन को पुरस्कार मिलेगा । आर्यन को गूगल के तरफ से दो लाख रुपये का पुरस्कार भी दिया गया है । रिसर्च में उन एप को शानदार पाया गया है और लगातार डाउनलोड का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है । लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा में आर्यन इस लिए हैं क्योंकि गूगल की तरफ से जो पैसा उसको मिला है उश पैसा को उशने दान में दे दिया | उसको जो राशि पुरस्कार के रूप में गूगल से मिला रहा था उस पैसे को व अपने खाता में न लेते हुए सीधा कहा कि आप इस राशि को उन बच्चों की शिक्षा पर खर्च कर दिजिए | आर्यन के पिताजी पटना के एक थानेदार हैं | बेटे की चर्चा गली-गली देख पिताजी खुश हैं | 14 वर्ष का आर्यन राज नौवीं कक्षा का छात्र है। आर्यन मार्च-अप्रैल में स्कूल की छुट्टी के समय तीन एप मोबाइल शॉर्ट कट, कम्प्यूटर शॉर्ट कट और वाट्सएप क्लीनर लाइट तैयार किया। तीनों एप को गूगल प्ले स्टोर पर अपलोड करने के लिए भेज दिया।

पटना नगर थानाध्यक्ष संजीत सिन्हा का कहेना है कि मेरा बेटा है आर्यन कक्षा दो से ही वह कंप्यूटर फ्रेंडली हो गया । वह सेंट माइकल दीघा में नौंवी का छात्र है। पिताजी बेटा को इंजीनियर बनना चाहते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here