जदयू इन राज्यों में आजमाने जा रही है किस्मत, भाजपा का साथ नहीं देगी

nitish_kumar
Advertisement

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव से पहले करने जा रही है | जदयू बड़ा धमाका, इसी साल के अंत में तीन राज्यों में विधानसभा की चुनाव होगी जिस में जदयू अपना किस्मत आजमाएगी|

जदयू ने कहा है कि पार्टी अपने प्रभाव वाले क्षेत्रों को चिह्नित कर उस पर चुनिंदा प्रत्याशी उतारेगा । ताकि उस सीट और पार्टी जीत मिल सकें | आपको ये बताते चलें के जदयू पार्टी ने कहा है कि पार्टी सभी राज्यों में बिहार के अलवा अकेला चुनाव लड़ेगी | हलांकि जदयू बिहार और नगालैंड के अलावा किसी अन्य राज्य में किसी भी पार्टी से हाथ मिलाकर चुनाव नहीं लड़ा है | जदयू पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव आफाक अहमद के मुताबिक, राजस्थान में बासवाड़ा एवं आसपास के इलाके, मध्य प्रदेश में झभुआ एवं रतलाम जैसे इलाके और छत्तीसगढ़ में झारखंड से सटे हुए क्षेत्रों में जदयू का प्रभाव है । बासवाड़ा में पिछले महीने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने एक सभा को भी संबोधित किया था। ऐसे प्रभाव वाले इलाकों को चिह्नित कर पार्टी प्रत्याशी उतारेगी। इससे पहले जदयू के राष्ट्रीय महासचिव संजय झा ने कहा था कि पार्टी अपने नेतृत्व में बिहार के अलावा और राज्य में चुनाव लड़ेगी | चुनाव से पहले पार्टी ने चुनाव वाले राज्यों में अपना संयोजक को नियुक्त कर दिया है | राजस्थान में दौलतराम पसिया, मध्य प्रदेश में सूरज जायसवाल और छत्तीसगढ़ में मासी मणि तिवारी को पार्टी का संयोजक बनाया गया है।

जदयू पार्टी ने चुनाव से पहले इन चार राज्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारियों को प्रभारी के रूप में नियुक्त कर दिया है । अखिलेश कटियार को राजस्थान, रवींद्र सिंह को छत्तीसगढ़ और विद्यासागर निषाद को मध्य प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। अब देखने की बात ये होगी कि इन राज्यों में जदयू के पक्ष में कितना वोट मिलता है | और इसका 2019 के लोकसभा चुनाव में क्या फ्रक पड़ेगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here