संत कबीर के पुन्य तिथी पर मोदी ने, कबीर एकेडमी की आधारशिला का शिलान्यास किया

Modi
Advertisement

पटनाः आज भारत के महान कवि संत कवीर दास के 500 वीं जंयती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को संत कबीर दास की निर्वाण स्थली मगहर पहुंचे कर देश वासियों को कबीर एकेडमी का तोफा दिया |

संत कबीर के कविता से कौन नहीं जानता है 14 वीं सदी में जन्में संत कबीर दास समाज के उस रूढ़िवादी परंमपरा के खिलाफ चलकर लोगों में आपसी भाईचार का जो प्रेम दिया उससे लोगों में जो उनकी छवि बनी है | उसे बतलाने की जरूरत नहीं है संत कबीर दास महान कवि थे | उनका जन्ह कहां और किस परिवार में हुआ इशके बारे में कई कहानि प्रचलन है | लेकिन व हिंदू-मिस्लिम के बीच मसीबा थे | आज उनके पाच सौ वीं जंयती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्राकट्य उत्सव पर संत कबीर नगर जिले के मगहर में कबीर की समाधि के दर्शन किया और फिर मज़ार पर जाकर चादर चढ़ाई |

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने यहां 24 करोड़ की लागत से बनने वाली कबीर एकेडमी की आधारशिला रखी | यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए संत कबीर को नमन किया | पीएम मोदी की इस रैली को लोकसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत के रूप में भी देखा जा रहा है |

संत कबीर अकादमी का शिलान्यास करते हुए | यहां महात्मा कबीर से जुड़ी स्मृतियों को संजोने वाली संस्थाओं का निर्माण किया जाएगा. कबीर गायन प्रशिक्षण भवन, कबीर नृत्य प्रशिक्षण भवन, रीसर्च सेंटर, लाइब्रेरी, ऑडिटोरियम, हॉस्टल, आर्ट गैलरी विकसित किया जाएगा | पीएम मोदी ने कहा, ‘आज ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा है… आज ही से भगवान भोलेनाथ की यात्रा शुरू हो रही है. मैं तीर्थयात्रियों को सुखद यात्रा के लिए शुभकामनाएं भी देता हूं. कबीर दास जी की 500वीं पुण्यतिथि के अवसर पर आज से ही यहां कबीर महोत्सव की शुरुआत हुई है |

पीएम मोदी ने संबोधन को संबोधित करते हुए कहा कि कबीर का सारा जीवन सत्य की खोज और असत्य के खंडन में व्यतीत हुआ | कबीर की साधना मानने से नहीं जानने से आरंभ होती है | वो सिर से पैर तक मस्तमौला, स्वभाव के फक्कड़, आदत में अक्खड़, भक्त के सामने सेवक, बादशाह के सामने प्रचंड दिलेर, दिल के साफ, दिमाग के दुरुस्त, भीतर से कोमल बाहर से कठोर थे. वो जन्म के धन्य से नहीं, कर्म से वंदनीय हो गए | इसी के साथ गुफा का दर्शन करते हुए आगे की यात्रा के लिए निकल गए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here