कहने को है जिला शिवहर, पर विकास से कोसों दूर है अभी भी , चौतरफी रास्ता है बदहाल !

seohar news
Advertisement

मोहम्मद हसनैन की रिपोर्ट –

शिवहर-:जिला शिवहर 6 अक्टूबर 2018 को 25 वां स्थापना दिवस मनाने जा रहा है परंतु आज जिला शिवहर- संपूर्ण विकास से कोसों दूर है। जिले में सड़क ,शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पेयजल, शौचालय, स्टेट हाईवे सड़क, राष्ट्रीय उच्च पथ एवं ग्रामीण सड़क को का जो स्थिति है वह बिल्कुल ही बदहाल है।
जबकि गुलाम भारत जब आजाद हुआ तो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने एक सपना देखा था पंचायत के समुचित विकास का, उनकी सोच थी कि ग्राम पंचायत अपना योजना बनाएं , केंद्र और राज्य सरकार निधि उपलब्ध कराएं , जिससे ग्राम पंचायत दिन दुगुनी रात चौगुनी की ओर आगे बढ़ता रहे।
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी ने महात्मा गांधी के सपने को साकार करने की दिशा में पहल की परंतु उनकी असमय मृत्यु हो जाने के कारण पंचायती राज व्यवस्था ठंडे बस्ते में रखा गया । जिससे अमलीजामा पहनाने का काम बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहल की जिन्होंने पंचायती राज व्यवस्था के सभी वर्गों के साथ-साथ महिलाओं को भी 50% आरक्षण दिला कर पंचायत में सेवा करने का मौका दिया। जिसमें आज हम सिर्फ शिवहर की सड़क के विभिन्न पहलुओं पर नजर डाल रहे हैं।
शिवहर के सांसद , विधायक ,विधान पार्षद ,जिला परिषद चेयरमैन, नगर अध्यक्ष ,मुखिया ,प्रखंड प्रमुख, व जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के कारण जिला के 25 साल बनने के उपरांत भी आज शिवहर में शिवहर से सीतामढ़ी , शिवहर से मुजफ्फरपुर, शिवहर से मधुबन, चकिया, मोतिहारी, शिवहर से बेलवा घाट होते हुए मोतिहारी, शिवहर से बैरगनिया का रास्ता आज भी अधर में लटका पड़ा है या कहे तो बदहाल है। नगर पंचायत शिवहर में अभी भी शहर से बरैया टोला वार्ड नंबर 15 एवं नगर पंचायत ट्रेनिंग कॉलेज रोड सडक न वरना उदाहरण है।

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क सिर्फ दिखावटी बना हुआ है बरसात के दिनों में ग्रामीण क्षेत्रों में जाना जान जोखिम में डालने के बराबर है।
सबसे अहम स्थानीय विधायक मोहम्मद सरफुद्दीन के पंचायत से सटे अंबा गांव में जाने वाला पथ आजादी के बाद से ही कायाकल्प नहीं किया गया है उस गांव में क्या ठंडी ,क्या बरसात, क्या गर्मी ,सभी मौसम में सड़क पर कीचड़, खड्डा राहगीरों को दुर्घटना का दावत देता रहता है।
शिवहर से देवकुली धनकौल तक जाने का रास्ता बहुत ही खतरनाक होता जा रहा है , रसीदपुर पुल डायवर्सन, महनदपुल डायवर्सन, कमरौली पुल डायवर्सन एवं कोल्हापुर डायवर्सन डुब्बा बांध के अंदर का सड़क किसी से छुपा हुआ नहीं है।
स्थानीय जीरो माइल चौक पर भी राष्ट्रीय उच्च पथ के सड़क अगल बगल में गड्ढे होने के कारण आए दिन दुर्घटना होती रहती है अनजान वाहन चालक इस दुर्घटना का शिकार होते रहते हैं।
शिवहर लालगढ़ पथ की ओर जाने वाली कहतरवा गांव में मुख्य सड़क वर्षों से खराब है , शिवहर से बरैया टोला होते हुए हरनाही जाने वाली पथ की स्थिति और भी चिंताजनक है।

seohar news

शिवहर मुजफ्फरपुर पथ समाहरणालय रोड महिन्द्रा कंपलेक्स के पास बारिश के पानी निकासी ना होने के कारण गड्ढा एवं सड़क पर पानी कीचड़ अभी भी बरकरार है जो एक बड़ी दुर्घटना को दावत दे रही है।
यही नहीं नगर पंचायत शिवहर प्रोजेक्ट बालिका रोड विद्यालय में सड़क पर तकरीबन 2 से 3 फीट पानी महीनों से जमघट लगाए हुए हैं समुचित पानी निकासी की व्यवस्था नहीं होने के कारण नगर पंचायत प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं ।
जबकि जिले के सर्वांगीण विकास को लेकर पक्की सड़कों पर मरम्मती, ग्रामीण सड़को पर मिट्टी करण, ईट सोलिंग, आरसीसी सड़क, पुल पुलिया की मरम्मती, पक्का नाला ,नाले पर ढक्कन , पोखर, का मरम्मती समय दर समय हुआ होता तो आज यह नौबत नहीं आती।

जिले शिवहर युथ क्लब रहमान शैख वोसिम अकरम आजम शैख, शिवहर जन जागरण मंच,के कार्यकर्ता गण एवं संघर्षशील युवा अधिकार मंच के अध्यक्ष आदित्य कुमार एवं मुकुंद प्रकाश मिश्र ,गरीब अधिकार मंच गुड्डू यादव कृपा पटेल बिजय कुमार , सहित समाज के प्रबुद्ध गन, पूर्व जिला पार्षद अजब लाल चौधरी ,अधिवक्ता सतीश नंदन सिह, सहित कई गणमान्य जनों ने जिला प्रशासन से मांग की है कि कम से कम जिला के सर्वांगीण विकास के लिए सड़क का आवागमन महत्वपूर्ण स्थान रखता है उसको सुदृढ़ीकरण किया जाए, सडक को मरम्मती करते हुए जल निकासी की कोई वैकल्पिक