कांग्रेस ने किया जाती कार्ड का अनोखा प्रदर्शन, इतिहास में पहली बार हुआ ऐसा !

Advertisement

बिहार के राजनीति में जाती कार्ड की महत्वपूर्ण भूमिका होती है ये किसी से छुपी नहीं है। जातियों का मुकम्मल समीकरण बनाए बिना किसी भी दल के लिए यहाँ सफलता प्राप्त करना आसान नहीं है। इस स्थिति को समझते हुए कांग्रेस ने भी प्रदेश में खुलकर जाती कार्ड खेलना शुरू कर दिया है। वे होर्डिंग लगाकर अपने नेताओं की जाति बता रहे हैं। राजधानी पटना में लगाए गए होर्डिंग में कांग्रेस के बड़े नेताओं की तस्वीर के साथ उनकी जाति भी बताई गई है। धर्मनिरपेक्षता का दावा करने वाली कांग्रेस के इतिहास में यह पहली घटना है, जब सार्वजनिक तौर पर नेताओं की जाति बताई जा रही है।

सदाकत आश्रम, राजापुर पुल, तारामंडल के सामने, बोरिंग केनाल रोड समेत कई जगहों पर जाति का उल्लेख करते हुए होर्डिंग लगाने वाले प्रदेश कांग्रेस के डेलिगेट और पूर्व प्रदेश सचिव रह चुके सिद्धार्थ क्षत्रिय ने कहा- पीएम मोदी कह रहे हैं कि कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है। ऐसे में लोगों के मन में शक न रहे, इसके लिए बकायदा होर्डिंग लगाकर उन्हें हमने बताया है कि नई प्रदेश कमेटी में सभी जाति को स्थान मिला है।

यह सच है कि बिहार की राजनीति में जाति अहम है, पर जाति का इस तरह खुला प्रदर्शन इसके पहले शायद ही किसी पार्टी ने किया हो। कांग्रेस ने इसकी शुरुआत की है। राजद के वोट बैंक के सहारे लोकसभा चुनाव में जीत का आसरा लगाए कांग्रेस को जाति की इस राजनीति से कितना फायदा होगा, ये आनेवाला समय ही बताएगा।

आपको बता दें कि इन होर्डिंग में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को ब्राह्मण बतया गया है। इसको लेकर विवाद शुरू हो गया है।