लोकसभा चुनाव को लेकर JDU ने दिया बड़ा बयान, बतया किसे मिलेगी टिकट

Advertisement

शुक्रवार को जदयू के प्रदेश कार्यालय में अति पिछड़ा प्रकोष्ठ की बैठक हुई। इसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह अगले लोकसभा चुनाव को लेकर अपना विचार रखते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में जदयू इस बार नए चेहरों पर दांव लगाएगा। बैठक में पार्टी के साथ अति पिछड़ा समाज को गोलबंद करने की रणनीति पर चर्चा हुई। यह भी तय हुआ कि जल्द ही अति पिछड़ा जिला सम्मेलन के दूसरे दौर की शुरुआत होगी।

उन्होंने कहा कि हमने चुनाव के लिए पूरी कार्ययोजना तैयार कर ली है। मुख्यमंत्री आवास में 16 सितंबर को राज्य कार्यकारिणी की बैठक में चुनावी रणनीति पर विस्तार से चर्चा होगी। उन्होंने आगे कहा कि एनडीए के अंदर भी जदयू, भाजपा, लोक जनशक्ति पार्टी और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के बीच सीटों का बंटवारा आम सहमति और सम्मानजनक तरीके से जल्द हो जाएगा।

आरसीपी ने कहा कि हमारी पार्टी सबको साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है। नीतीश कुमार की सरकार का विश्वास और संकल्प सुशासन में है। मॉब लिंचिंग जैसे मामले पर बिहार ने देश में सबसे पहले कानून बनाया। संविदा कर्मियों के हितों को लेकर भी राज्य सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लिया है।

पिछड़ों और दलितों के लिए ज्यादा आरक्षण देने संबंधी राजद नेता तेजस्वी यादव कि मांग पर आरसीपी ने कहा कि बिहार में 15 वर्षों तक तेजस्वी के परिवार का शासन रहा, उस वक्त उन्हें पिछड़ों और दलितों के आरक्षण को क्यों नहीं बढ़ाया।