तीज: पति की लंबी आयु के लिए 24 घंटे निर्जला उपवास पर रहेंगी सुहागिनें, जानिए शुभ मुहूर्त….

Advertisement

इस बार भाद्र शुक्ल पक्ष तृतीया बुधवार 12 सितंबर को हरितालिका तीज व्रत है। आज महिलाएं अपने अखंड सौभाग्य की खातिर निर्जला व्रत रखकर शिव-पार्वती की पूरे विधि -विधान से पूजा करेंगी। महिलाएं मिट्टी का शिवलिंग बनाकर उसपर पंचामृत, सुंगधित तेल, गुलाबजल इत्यादि से पूजा कर चंदन का लेप करेंगी। सुहाग की सामग्री के साथ पूजा में अक्षत, फूल, बेलपत्र, धूप, दीप, नैवेद्य, पान, लौंग, इलायची का उपयोग करेंगी।

महिलाएं क्यों रखती है ये व्रत

त्रेता युग से ही भादव शुक्ल तृतीया को हरितालिका तीज का व्रत रखा जाता है। राजा पर्वतराज हिमालय की पुत्री पार्वती ने नारद के निर्देश पर मन ही मन शिव को पति मान लिया था। पार्वती ने शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए इसी दिन तीज व्रत किया। उसके फलस्वरूप भगवान शिव, पार्वती को पति रूप में मिले। महादेव ने पार्वती से कहा कि आज से भाद्र शुक्ल पक्ष तृतीय को जो भी सौभाग्यवती स्त्री इसी तरह से पूजा करेंगी वह सदा सुहागन रहेंगी।

मुहूर्त : तीज पूजन के लिए सिद्धियोग शाम 5.35 बजे से 6.40 बजे तक है। वहीं सर्वार्थ सिद्धि योग शाम 6.50 से रात 8.10 बजे तक है।