जानिए, सवर्णों का भारत बंद किसके द्वरा प्रयोजित था ?

Advertisement

पटना में पार्टी के बैठक के बाद राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के छोटे पुत्र व् बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सवर्णों के भारत बंद से लेकर सोमवार को आयोजित भारत बंद तक पर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि सवर्णों का भारत बंद बीजेपी और आरएसएस प्रयोजित था। बीजेपी और आरएसएस के लोग देश के सबसे बड़े जातिवादी लोग हैं। उन्होंने आगे कहा कहा कि एससी/एसटी के साथ हमारी पार्टी मजबूती से खड़ी है और आगे भी खड़ी रहेगी।

तेजस्वी ने सवर्णों के भारत बंद को बजेपी और आरएसएस द्वरा प्रयोजित बताते हुए कहा कि देश में आरक्षण को ख़त्म करने की एनडीए बड़ी साजिश रच रही है। उन्होंने कहा कि सरकार की इस मंशा को हम किसी कीमत पर पूरा नहीं होने देंगे। बीजेपी भारत बंद के जरिये दलितों-पिछड़ों को लड़ाने की कोशिश में है।

आरक्षण के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि आबादी के हिसाब से आरक्षण होना चाहिए लेकिन जातीय जनगणना को बीजेपी सरकार छिपा कर रखी हुई है। उन्होंने जातीय जनगणना को सार्वजनिक करने की भी मांग की और कहा कि सरकार की मंशा आरक्षण और संविधान विरोधी है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को पार्टी की बैठक में पार्टी ने 2 एजेंडों पर चर्चा की। पहले पार्टी के संगठन को मजबूत करना और दूसरा एससी/एसटी एक्ट को लेकर।