चाहे सैनिक कटे या उनकी नौकरियाँ लेकिन प्रचार धार कुंद न होने पाए: मिसा भारती

Advertisement

देश में एक तरफ बेरोजगारी अपने चरम पर है तो दूसरी तरफ सरकार 1.5 लाख नौकरियां ख़त्म करने की सोंच रहा है. ख़बरों के मुताबिक भारतीय सेना बड़े बदलाव करने की तैयारी में है।वो डेढ़ लाख नौकरियां ख़त्म करने पर विचार कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक सेना इससे बचने वाले 5 से 7 हज़ार करोड़ रुपये से हथियार खरीदेगी। खर्च घटाने और नए एडवांस हथियार, उपकरणों की खरीद के लिए पैसा जुटाने के मकसद से यह कदम उठाया जाएगा। वर्तमान में आर्मी के कुल 1.2 लाख करोड़ के बजट में से 83 फीसदी उसके राजस्व व्यय और वेतन सहित कई अन्य मद में खर्च हो जाता है।

इस खबर पर राजसभा सांसद और राजद नेत्री मिसा भारती ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्र सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि “भारतीय सेना में 1.5 लाख नौकरियां ख़त्म करने की तैयारी हो रही है! बताया जा रहा है कि ऐसा किए बिना बाकी सेना के लिए साज़ोसामान नहीं आ पाएगा! प्रचार की धार कभी कुंद ना होने पाए, फिर चाहे सैनिक या उनकी नौकरियाँ ही क्यों ना कटते जाएँ!