लोजपा और रालोसपा पर भाजपा का नियंत्रण नहीं है: राजद

Advertisement

मुख्यमत्री नीतीश कुमार सोमवार को लोकसंवाद कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा था कि अगले तीन-चार हफ्ते में लोकसभा चुनाव के लिए एनडीए के घटक दलों के बीच सीटों के बंटवारे का फार्मूला तय हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव में सीटों के सहज बंटवारे की संभावना को खारिज करते हुए राजद ने कहा है कि आने वाले दिनों में भाजपा-जदयू खेमे में भगदड़ तय है। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने दावा किया कि राजग के कई विधायक और सांसद उनके संपर्क में हैं और मौका आने पर वे पाला बदलने को तैयार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा के सहयोगी दल भी उसे छोडऩे वाले हैं, जिसके बाद बिहार में भाजपा अकेली रह जाएगी। रघुवंश ने भाजपा की पुरानी सहयोगी शिवसेना और तेलुगू देशम पार्टी का उदाहरण देते हुए कहा कि एक-एक कर सभी अलग हो रहे हैं। ऐसा ही बिहार में भी होगा।

रघुवंश ने फिर दोहराया कि लोजपा और रालोसपा पर भाजपा का नियंत्रण नहीं है। सीट बंटवारे से पहले राजग में भाजपा अकेली रह जाएगी। उन्होंने राजग में सीट बंटवारे के फार्मूले पर सवाल उठाया। कहा कि किस आधार पर बंटवारा होगा। न भाजपा कम लेना चाहेगी और न जदयू। ऐसे में विपक्ष को लार टपकाने की नौबत नहीं आएगी। अपने आप सबके रास्ते अलग हो जाएंगे।