नीतीश को हार्दिक ने कहा चाचा, आप तो अपने हैं, लेकिन आपने तो रास्ता ही बदल लिया

hardik
hardik patel speech in skm

पटना। गुजरात में पटेल आरक्षण को लेकर आंदोलन करने के बाद गुजरात चुनाव तक एक बड़ा चेहरा बन चुके तेना हार्दिक पटेल आज बिहार पहुचवे हैं।

Advertisement

बिहार में आज एक सभा को संबोधिक करते हुए हार्दिक ने कहा कि मैं सरकार विरोधी नहीं और न ही विपक्ष का साथी हूं। आपने संबोधन में हार्दिक ने खुले तौर पर नीतीश कुमार को अपने निशाने पर लिया।हार्दिक ने कहा कि वे बिहार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का विरोध करने नहीं आए है, बल्कि कुर्मी, कुशवाहा और धानुक समाज के साथ पूरे समाज को उनके अधिकार के प्रति जागरूक करने के लिए यहां आए हैं।

हार्दिक ने कहा कि बिहार में तो जनता ने महागठबंधन को सत्ता सौंपा था, लेकिन जब गठबंधन छोड़ जब नीतीश कुमार भाजपा के साथ चले गए, तो अब बिहार को विशेष राज्य का दर्जा तो दिला दें। विशेष पैकेज भी बिहार का बकाया है। बिहार पिछड़ा राज्य है, विशेष दर्जा इसका अधिकार है। बता दे कि उक्त बाते हार्दिक ने शनिवार को वे पटना के एसकेएम में पटेल जागरूकता सम्मेलन कहीं।

बार बार उनका नाम कांग्रेस के साथ जोड़े जाने को लेकर भी हार्दिक आज यहा खुलकर बोला।

उन्होने कहा कि अभी 24 साल का हूं। किसी पार्टी का सदस्य नहीं हूं। किसी पार्टी के साथ मेरा नाम नहीं जोड़ना चाहिए। बिहार में मुझे चुनाव नहीं लड़ना है। दूसरों को आगे बढ़ाने के बदले आप लोग खुद आगे बढ़िए। यह मत कहिए हार्दिक भाई तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं। हम आगे बढ़ जाएंगे, लेकिन आप क्यों पीछे रहना चाहते हैं।

ये भी पढ़े  एटीएम यूज करना हो सकता है महंगा, आपकी जेब पर पड़ेंगा असर, जानिए

गांधी मैदान में करुंगा रैलीः- 1994 में कुर्मी चेतना रैली की बात कहते हुए हार्दिक ने कहा कि उस आंदोलन से भलजे हि कुछ लोंग नेता और मंत्री बन गए, लेकिन समाज का कल्याण नही हो सका। हार्दिक ने पटना के गांधी मैदान में जल्द ही ं रैली करने की बात कही और कहा कि इस रैली में करेंगे 10 लाख लोग जुटेंगे। एक माह तक बिहार में रह कर गांव-गांव में लोगों को जागरूक करुंगा।

हार्दिक ने कहा कि कुर्मी मूल रूप से किसान हैं। मोबाइल और एसी बनाने वाले करोड़पति हैं और किसान भूखा मर रहा है। आंदोलन की जरूरत है। गुजरात में पटेल समाज को कमल वालों ने मूर्ख बना कर रखा था, जब जगा तो नरेंद्र मोदी और अमित शाह को एक माह तक चुनाव में पसीने छूट गए।

hardik patel in skm patna
hardik patel in skm patna

मेरा नाम कुर्मी कुशवाहा धानुक हार्दिक पटेल हैं – गुजराज में 2 करोड़ पटेल हैं। वहां भी पहले कुर्मी और कुशवाहा को अलग करने की राजनीति चलती थी। हमने सब को एक किया। बिहार में भी लगभग सवा करोड़ पटेल की आबादी है। कुर्मी, कुशवाहा और धानुक मिला कर यहां 12 प्रतिशत आबादी है। लेकिन दिल पर हाथ रख कर बोलिए सामाजिक और राजनीतिक रूप से आबादी के हिसाब से सत्ता में हिस्सेदारी मिली। किसी एक व्यक्ति को सत्ता मिल जाने से सभी का भला नहीं होता है।

आज के पटेल जागरूकता सम्मेलन को विफल कराने का आरोप बिहार सरकार पर लगाते हुए हार्दिक ने कहा कि सम्मेलन में 200 गाड़ियों को आने से प्रशासन ने रोका। पटेल छात्रावास में भी जाकर सम्मेलन में नहीं जाने के लिए उकसाया जा रहा था। बिहार के युवा अपने अधिकार के लिए लड़ेंग।

ये भी पढ़े  नीतीश कुमार पर मार्कडेय काटूज ने कसा तंज, क्या कहा जानिए
चाचा काहे डरते हैं मुझसे:- बता दे कि सम्मेलन में अपने भाषण के दौरान हार्दिक के निशाने पर सीएम नीतीश सिधे तोर पर रहे। तेजस्वी की तरह नीतीश को चाचा बोलते हुए हार्दिक ने कटाक्ष करते हुए कहा कि-

’चाचा काहे डरते हैं मुझसे। आप मुझे बुलाते तो मैं जरूर आपसे मिलने आता। आप तो अपने हैं, लेकिन आपने तो रास्ता ही बदल लिया। शायद मुझे बुलाते तो दिल्ली वाले आपसे नाराज हो जाते।;

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here