PM मोदी ने इमरजेंसी के 43 वें बरसी पर बरसे कहा मुसलमानों और दलितों को काल्पनिक भय पैदा कर किया राज

PM MODI INDIRA GHANDHI
PM MODI INDIRA GHANDHI
Advertisement

नई दिल्ली: इंदिरा गांधी की इमरजेंसी के 43 वें बरसी पर मोदी ने जमकर कांग्रेस और इंदिरा गांधी पर निशाना साधा कहा कि कोई यह गलती न करे कि हम सिर्फ देश में आपातकाल लगाने वाली कांग्रेस सरकार की आलोचना करने के लिए इस काले दिन का स्मरण कर रहे है. बल्कि हमारा मकसद है कि देश की युवाओँ को यह बताना कि तब क्या हुआ था. और हमें लोकतंत्र के प्रति अपने समर्पण को याद रखना चाहिए.

मुंबई में आयोजित विचार संबोधन सभा में पीएम ने कहा कि कांग्रेस में आज भी नामदार वाली मानसिकता है. उसमें हम वाली मानसिकता है वह आज भी आपातकाल वाली मानसिकता से ग्रसित है सत्ता सुख के मोह में एक परिवार को बचाने के लिए आपातकाल लगाया था .

देश ने कभी यह सोचा भी नहीं होगा कि लोकतंत्र और संविधान की बड़ी बड़ी बातें करने वाले लोग हिन्दुस्तान को जेलखाना बना देंगे. हर किसी को डराया गया था . संविधान को उस समय गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया युवाओ को रती भर नही पता की तब क्या किया गया.

जब-जब कांग्रेस पार्टी को और खासकर एक परिवार को अपनी कुर्सी जाने का संकट महसूस हुआ है तो उन्होंने चिल्लाना शुरू किया है कि देश संकट से गुज़र रहा है, देश में भय का माहौल है और देश तबाह हो जाने वाला है और इसे सिर्फ हम ही बचा सकते हैं

मोदी कहा कि जिन्होंने देश के संविधान को कुचल दिया है, देश के लोकतंत्र को जेलखाने में कैद कर दिया गया है वो आज भय फैला रहे है कि मोदी संविधान को खत्म कर देगा.

पीएम मोदी ने कहा कि जागरुकता के लिए BJP का काला दिवस मना रही है. इमरजेंसी के समय भय का माहौल था और देश के लोकतंत्र पर काला धब्बा है. कांग्रेस ने इमरजेंसी का पाप किया था और संविधान का दुरुपयोग किया गया. उन्‍होंने कहा कि नई पीढ़ी को इमरजेंसी का पता नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here