किशनगंज: औवैसी बोलें: मोदी साहब की गोद में जाकर बैठ गए हैं नीतीश

owaisi
owaisi
Advertisement

किशनगंज। बिहार में लोंकसभा चुनावो को लेकर राजनीति जोर अजमाईसे शुरू हो चलीं हैं। वहीं इसी को देखते हुए एक बार फिर से हैदराबाद सांसद व एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बिहार का रुख किया है। पीछली बार भी उनकी पार्टी ने किशनगंज से चुनाव लड़ा था। इस बार भी वे लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर बिहार के किशनगंज के दौरे पर आए है। इस दौरान किशनगंज में उन्होंने अपनी पार्टी के लोगों से मुलाकात की और लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा की।

किशनगंज दौरे के दौरान अवैसी ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर भी हमला बोला। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम किशनगंज से चुनाव लड़ेंगे और दूसरे कहां की सीट से लड़ेंगे ये हमारे दिगर साहब तय करेंगे। दिगर साहब खुद किशनगंज से उम्मीदवार होंगे। वहीं, गठबंधन के हिस्सा बनने के सवाल पर ओवैसी ने कहा कि ’हम उनलोगों से पूछना चाह रहे हैं कि जो असेंबली इलेक्शन के दौरान हमपर वाहियात किस्म के इलजाम लगाए थे कि वोट काटने आए हैं, ये करने आए हैं, वो करने आएं हैं।

उन्होने कहा कि अब नीतीश कुमार खुद मोदी साहब की गोद में जाकर बैठ गए हैं। नीतीश कुमार का बीजेपी में जाकर बैठ जाना तो ये तो दोनों पार्टी (कांग्रेस और आरजेडी) पर तय होता है। उन्होंने तो वोट हासिल किया था कि बीजेपी को रोकेंगे। अब ये वो बताएं कि कैसे हुआ? इनकी भी जिम्मेदारी है और वो इसको रोकने में नाकाम साबित हुए हैं। यहां पर बीजेपी सरकार भी आ गई।

371 के तहत तय हो विकास संरचना

वहीं, दूसरी ओर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जहां पर 371 के तहत विकास संरचना तय होता है वहां के मुखामिल लोग खुद तय करते हैं कि कितने स्कूल चाहिए, दवाखाने कितने बनेंगे, नौकरियां मुखामिल लोग को मिलेंगे। वर्षों से आपने दूसरे पार्टियों को मौका दिया। उन्होंने सीमांचल से न्याय नहीं किया।

आज हम ये समझते हैं कि हम दस्तूरी तौर पर कांस्टीट्यूशनल तरीके से इस चीज को हम हासिल कर सकते हैं। ताकि यहां के आवाम को इंसाफ मिल सके। यहां पर तरक्की हो। बरसात के जमाने में कैसे खेत कट जाती है, कितनी परेशना होती है। कितने लोग बेघर हो दजाते है। ये मेरे से बेहतर आप जानते हैं। और जब बर्बादी-तबाही आ जाती है तो वर्षों लग जाते हैं और काम ही नहीं होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here