महागठबंधन में मतभेद : शिवानंद तिवारी ने कांग्रेसीयो बताया ’ऐरा गैरां

shivanand-tiwary attack on congress
shivanand-tiwary
Advertisement

पटना। 2019 के के आम चुनावो में अभी 11′ महिने बाकीं है। लेकिन बिहार में इसकी झलके पहले ही दिखने लगी है। बिहार में मानसून भले ही थेड़ी देर से आया अहो लेकिन यहां की हवा में 2019 के चुनावो को लेकर अभी से मोल तोल होते देखे जा सकते है।

एक ओर जहां बिहार में एनडीए के घटक दल जदयू और बीजेपी के बीच मतभेद खुलकर सामने आए है वहीं अब महागठबंधम में भी राजद और कांग्रेस में वर्चस्व की लड़ाई देखी जा सकती है।

आगामी लोकसभा की हवा कुछ यू चल रही हैं कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की तरह अब महागठबंधन में भी अपसी तीर तजी से एक दूसरे पवर छूट रहे है। एक ओर जहां कांग्रेस जदयू को लेकर नरम रूख अपना रही है तो वहीं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) कांग्रेस के इस रवैये से खफा है। इसी को लेकरी राजद ने जहां बिहार कांग्रेस के नेताओं को ’ऐरा-गैरा’ तक कह दिया है तों वहीं कांग्रेस ने राजद को जुबान पर लगाम लगाने की सख्त नसीहत दे दी है। तां वहीं महागठबंधन में दिखे इस आपसी मतभेद पर राजग के नेता भी चुटकी लेने में पीछे नही है।

बिहार कांग्रेस में कोई नेता नहींः शिवानंद

बता दे कि एक ओर जहां कांग्रेस नीतीश कुमार और उनकी र्पाअी जदयू को अपने साथ लेने को तत्पर है तो वहीं राजद ऐसा नहीं चाहती। खुद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव हीं इसे खारिज कर दिया है। इसी बात पर सवाल पूछे जाने पर राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने यह कहकर सनसनी फैला दी कि बिहार कांग्रेस के नेताओं की कोई हैसियत नहीं है। उन्होने कांग्रेस को ’ऐरा गैरा नत्थू खैरा’ तक कह डाला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता राहुल गांधी हैं। बिहार में कोई नेता नहीं है।

कांग्रेस ने दी कड़ी चेतावनीः- शिवानंद तिवारी के उक्त बयान से भड़की कांग्रेस ने राजद नेताओं को जुबान पर लगाम लगाने की नसीहत दे डाली। बिहार कांगेस के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि राजद नेता संयम बरतें, एक-दूसरे का सम्मान करें तथा मर्यादा का ध्यान रखें। उन्होंने कहा, तभी हम साथ चल सकेंगे। राजद के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के विधायक अशोक राम ने भी राजद को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता से लेकर वोटर तक सभी अकेले चुनाव लड़ने को तैयार हैं।

महागठबंधन में चल रहे बयानों के तीर पर राजग नेताओं ने चुटकी ली है।

जदयू प्रवक्ता नीरज सिंह ने कहा कि यह राजद के लंपटीकरण का एक और प्रमाण है। मतभेद अपनी जगह हैं, लेकिन ऐसे बयान गलत हैं।

जदयू के ही अजय आलोक ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को ऐरा गैरा कहना गलत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here