अगर ऐसा हुआ तो तेजस्वी नहीं रहेंगे नेता प्रतिपक्ष, जानिए

tejashwai-yadav
tejashwai-yadav

पटना। साल भर पहले बिहार में हुए महागठबंधन में फूट जिस वजह से आई थी उसी रास्ते बिहार की राजनीति एक बार फिर से जाती दिख रही है।

Advertisement

उस समय इसका नुकशान राजद ओर इसका नेतृत्व कर रहे तेजस्वी यादव को उठाना पड़ा था और आज भी तेजस्वी के लिए एक बड़ा खतरा सामने है।

बिहार के मौजूदा उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ऐ बार फिर से तेजस्वी यादव पर हमलावर है और एक के बाद एक भ्रष्टाचार के आरोप उनपर गढ़ रहे है।

भाजपा और राजद के बीच तनातनी के हालात हैं। ऐसे में सांसद और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की मुश्किलों में इजाफा होता दिख रहा है। एक तरफ उनके पिता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद बीमारी और कानूनी झंझटों में फंसे है जिससे तेजस्वी पहले से परेशान हैं। वही पार्टी और परिवार की भी पूरी जिम्मेदारी उनपर आ गई है। ऐसे में ताजा संकटों से उबरना तेजस्वी के लिए आसान नहीं दिख रहा है।

सुशील मोदी ने हाल हीं में दो प्रेस कांफ्रेस किए ओर जिंदल स्टील के साथ तेजस्वी के कारोबार को लेकर कई नए खुलासे किए। जिससे ऐसा लगता है कि लालू परिवार की परेशानियों में एक बार और इजाफा हो सकता है। खतरा तो यह भी हैं कि अगर ये मामला चुनाव आयोग में गया तो तेजस्वी की विधानसभा सदस्यता भी जा सकती है। हालांकि सुशील मोदी ने इससे इनकार किया है और कहा है कि वह राजनीतिक आदमी हैं। पब्लिक फोरम में बात रखेंगे। चुनाव आयोग में जाना हमारा काम नहीं है, लेकिन अगर जांच एजेंसियां हमसे सहयोग मांगेगी तो उसमें पीछे नहीं रहेंगे।

ये भी पढ़े  भगवान करें ऐसा दोबारा न हो, बेटी की शादी मंडप में पिता का मौत हो गया

वही दूसरी तरफ तेजस्वी इन आरोपो पर साफ-साफ जवाब देने से बच रहे है लेकिन उन्होने सुशील मोदी को झूठा बताते हुए एक ही टेप को वह बार-बार सुनाने की बात कही है। उन्होने कहा कि कहा, कारोबार-व्यापार पर सिर्फ उनके परिवार का अधिकार नहीं है। तेजस्वी ने सुशील मोदी को नसीहत देते हुए कहा कि वह लालू परिवार की चिंता छोड़ अपनी चिंता करें।

ये आरोप लगाए है सुशील मोदी ने तेजस्वी पर

मोदी ने प्रेस कान्फ्रेंस करके दो दिनों में तेजस्वी पर दो बड़े आरोप लगाए हैं। पहले आरोप में उन्होंने तेजस्वी को जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड के बिहार में हैंडलिंग एंड स्टोरेज एजेंट बताया और कहा कि यह काम वह पिछले छह वर्षों से करते आ रहे हैं, लेकिन चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में उन्होंने इसका जिक्र नहीं किया है। मोदी ने अपने दूसरे खुलासे में जांच एजेंसियों को तेजस्वी के खिलाफ नया हथियार दे दिया है।

उन्होंने अवैध तरीके से पटना में कीमती 255 डिसमिल जमीन हथियाने के सबूत जारी कर लालू परिवार की मुश्किल बढ़ा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here