निमंत्रण पत्र में नाम नही होने पर बोले तेज प्रताप:- कल शंखनाद से करूंगा शुरूआत

tejpratap-yadav
tejpratap-yadav
Advertisement

पटना। कल गुरुवार को लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद का स्थापना दिवस है। इसे राजद ने बड़े ही धुमधाम से मनाने का फैसला किया है। लेकिन इस समारोह को लेकर एक बार फिर से लालू यादव के दोनो बेटो के बीच का मतभेद खुलकर सामने आ गया है। बता दे कि 21वां स्थापना दिवस मनाने जा रही राजद के के आमंत्रण पत्र से तेज प्रताप यादव का नाम गायब है।

राजद के इस वर्ताव को लेकर जदयू और भाजपा ने तेज प्रताप पर तंज कसा है। विपक्षी पार्टियों को जवाब देते हुए तेज प्रताप ने कहा कि भाजपा और आरएसएस के लोग भ्रम फैलाने में लगे है।

कल फिर शंखनाद करूंगा तेज प्रताप

इस पूरे मामले में अपने विरोधियो का जवाब देते हुए तेज प्रताप ने कहा कि हर पोस्टर-बैनर में मेरा फोटो लगा है। मैं कल पार्टी के कार्यक्रम में शामिल रहुंगा। पार्टी हमारी है। दोनों भाई में किसी प्रकार का विवाद नहीं है। कल मैं फिर मंच से भगवान कृष्ण की तरह शंखनाद करूंगा। मेरा भाई अर्जुन है।

तेजप्रताप ने कहा कि निमंत्रण पत्र में मेरा नाम रहे या न रहे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। पार्टी हमारी है और पार्टी में हमारे लोग हैं, मुझे किनारे करने का कोई सवाल ही नहीं उठता। पार्टी के स्थापना दिवस पर हमने पूरी तैयारी की है। कार्यक्रम में तेजस्वी यादव को कैसे सम्मान देना है, इसकी पूरी प्लानिंग हमने की है। आपको बता दे कि कार्यक्रम में तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, राबड़ी देवी समेत कई बड़े नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे।

ये भी पढ़े  अब गरीब देश नही रहा भारत, हर मिनट इतने लोग आ रहे गरीबी रेखा से ऊपर, जानिए
lalu-daughter-in-law-in-pos
lalu-daughter-in-law-in-pos

बुझने वाली है लालटेन की लौ:- भाजपा

वही इससे पहले आमंत्रण पत्र में तेजप्रताप का नाम नहीं होने पर भाजपा ने तंज कसते हुए कहा कि ये परिवार की राजनीति है। लालू यादव अब सक्रिय राजनीति से दूर हो चले हैं। बीजेपी ने कहा कि पिता लालू के विरासत को लेने के लिए दोनों भाइयों में होड़ मची है। तेजप्रताप को जो सम्मान पार्टी में मिलना चाहिए वो नहीं मिल रहा है। तेजप्रताप की पीड़ा सामने आ रही है। लालटेन की लौ अब बुझने वाली है।

तेज प्रताप की राजद में नो एंट्रीर: जदयू

वही तेजप्रताप पर तंज कसते हुए जदयू ने उनके कल के पोस्ट को लेकर निशाना साधते हुए कहा है कि उनके साथ स्वभाविक न्याय हुआ है। वे नीतीश चाचा नो एंट्री का पोस्टर चिपका रहे थे। राजद में ही अब उनकी नो एंट्री हो गई है। इस मामले पर हमें कुछ नहीं कहना है। परिवार की राजनीति है परिवार समझे।ये बात जदयू प्रवक्ता अजय ओक ने कही।
क्या है निमंत्रण पत्र में?

राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन द्वारा जारी आमंत्रण पत्र में तेज प्रताप का नाम नहीं है। आमंत्रण पत्र में लिखा है-

प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी आगामी 05 जुलाई को राजद का स्थापना दिवस पार्टी के राज्य कार्यालय परिसर में समारोहपूर्वक मनाया जाएगा। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव समारोह का उद्घाटन करेंगे। समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह, पूर्व सांसद जगदानंद सिंह, शिवानंद तिवारी, कांति सिंह, सांसद जयप्रकाश नारायण यादव, बुलो मंडल सहित अन्य सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी एवं नेता उपस्थित रहेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचन्द्र पूर्वे की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में पार्टी के सभी सांसद, पूर्व सासंद, विधान सभा सदस्य, पूर्व विधानसभा सदस्य, विधान परिषद सदस्य, पूर्व विधान परिषद सदस्य, विगत चुनाव में रहे राजद के प्रत्याशी, राज्य कमिटी के सभी पदाधिकारी एवं सदस्य, सभी जिलाध्यक्ष, सभी प्रखंड एवं पंचायत अध्यक्ष सहित जिला एवं प्रखंड कमिटी के सभी पदाधिकारी एवं सदस्य, सभी प्रकोष्ठों के राज्य, जिला एवं प्रखंडों के पदाधिकारी एवं पार्टी के प्रमुख साथी भाग लेंगे।

हालांकि आपको बता दे इस बार के राज के पोस्ट की एक खास बात ये है की पार्टी के बैनर पर पहली बार लालू परिवार की नई नवेली बहु प्रियंका का फोटो छपा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here