सीएम नीतीश के फैन हो चलें है कांग्रेस के ये पांच बड़े नेता, जानिए

congress-fan-of-nitish-kuma
congress-fan-of-nitish-kuma
Advertisement

पटना। बिहार में विपक्ष अब नीतीश कुमार को लेकर देा फाड़ होता दिख रहा है। एक ओर जहां राजद ने नीतीश कुमार को दुबारा महागठबंधन में शामिल करने से साफ-साफ इंकार कर दिया है। तो वही कांग्रेस इस मामले में राजद से इत्तेफाक नही रखती है। बिहार कांग्रेस के कई ऐसे विधायक है तो नीतिश कुमार के फैन है।

ऐसे ही पांच विधायक ऐसे है तो चाहते है कि नीतीश कुमार की वापसी महागठबंधन में हो, वही वे इस बारे में बकायदा बयान भी दे रहे हैं। कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह के द्वारा अपने आलाकमान से नीतीश कुमार की वकालत करने के बाद कांग्रेस विधायकों में नीतीश के साथ खड़े दिखने की होड़ लगी हुई है। एक के बाद एक पांच विधायक पार्टी और गठबंधन लाइन से अलग नीतीश के समर्थन में बयान देते दिखे है।

आपको बता दे कि प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी और विधान परिषद में पार्टी विधायक दल के नेता मदन मोहन झा की मौजूदगी में, विधायक दल के नेता सदानंद सिंह ने ही सबसे पहले नीतीश कुमार को लेकर अपनी दलील रखी थी, इसके बाद फिर विधायक शकील खां, तौशिफ आलम, सुदर्शन, मुन्ना तिवारी ने नीतीश के समर्थन में बयान देते दिखे। आपको बता दे कि इन नेताओ के नीतीश कुमारर के पक्ष में बयान देने के बाद से ही बिहार कांग्रेस में नीतीश के कायल विधायकों की संख्या बढती जा रही है।

वही इसी को देखते हुए प्रदेश के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कांग्रेस आलाकमान के निर्देश पर अपने विधायकों को मुंह बंद रखने को कहा है। बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा, ’हमने हिदायत की है कि पार्टी लाइन के खिलाफ कोई बयान नहीं देना है। नीतिगत फैसला आलाकमान को लेना है। उनके स्तर पर फैसला लेना है और इस मामले में दोनों (राजद और कांग्रेस) के नेताओं के तरफ से एतिहयात बरतने की जरूरत है’

ये भी पढ़े  नीतीश ने लालू को किया फोन, क्या छोड़ेंगे मोदी का साथ ? पाढिए पूरी खबर

बताते चले कि भले ही बिहार कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने भले ही अपने विधायकों को नीतीश के मामले में मुंह बंद रखने को कहा है लेकिन सच तो ये ही हे िकवे खुद भी बिहार के सीएम के फैन है। वे खुद भी इस बात को मानते हैं कि नीतीश कुमार अच्छे नेता हैं। कादरी कह भी चुके है कि नीतीश कुमार अच्छे नेता है लेकिन संगत बुरी है। यही कारण है कि कांग्रेस नीतीश कुमार को लेकर राजद की ओर से दिए गए बयान को लेकर उसके साथ नही दिख रही।

ऐसे में कांग्रेस विधायकों में नीतीश के समर्थन में खड़े होने का बढ़ता काफिला देखकर लग रहा है कि पार्टी में शायद एक बार फिर से टूट न हो जाए। बताते चले कि इससे पहले बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी को कांग्रेस कांगेस का साथ छोड़ नीतीश कुमार के साथ जा चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here