मिथिलावासियों को मोदी सरकार का नए साल पर बिशेष तोहफा

Advertisement

दरभंगा से वरुण ठाकुर की रिपोर्ट-

मिथिलावासियों को मोदी सरकार नए साल के अवसर पर तोहफा दिया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु दरभंगा हवाई अड्डा पर कार्यारंभ किया. इस मौके पर नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, रामकृपाल यादव, जेडीयू नेता संजय झा, स्थानीय सांसद कीर्ति आजाद सहाति कई अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहें. वहीं, बीजेपी से नाराज सांसद कीर्ति आजाद के समर्थकों ने प्रदर्शन भी किया. दरअसल, कीर्ति आजाद ने बताया कि मैं सांसद बतौर मंच पर खड़ा था अगर मुझे माला नहीं मिला तो मेरा समर्थक आवाज़ उठाया. इसमें गलत क्या है. वहीं, सांसद ने यह भी कहा कि यह शिलान्यास केंद्र सरकार के भूमिका से हो रही है,

 

darbhanga news

बाकि चुनावी माईलेज के लिए सब हो रहा है जल्द ही मिथिला सहित पूरे उत्तर बिहार के लोग दरभंगा से हवाई सफर की सुविधा का लाभ उठा पाएंगे. खबर है कि इसे बन कर तैयार होने में छः माह का टारगेट रखा गया है. शुरुआत में एक दिन में तीन उड़ान की बात सहमती मिल गयी है. मालूम हो कि केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत दरभंगा हवाईअड्डे से व्यावसायिक उड़ानों के संचालन के लिए सिविल एन्क्लेव बनाने की प्रक्रिया आज शुरू हो रही है. विदित हो कि दरभंगा एयरपोर्ट पर हवाई सेवा की शुरुआत के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और डीजीसीए ने यहां का दौरा किया था. इस दौरे में चार सदस्यीय टीम नवंबर 2017 में दरभंगा आई थी. केंद्रीय उड़ान योजना के तहत दरभंगा एयरपोर्ट के विकास लिए 100 करोड़ केंद्र सरकार खर्च करेगी. विमानन कंपनियों ने दरभंगा से दिल्ली, मुंबई और बंगलौर के लिए हवाई सेवा का प्रस्ताव दिया है.

 

darbhanga news

इस बाबत केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर कहा है कि रभंगा हवाई अड्डा से व्यवसायिक उड़ान प्रारंभ होना मिथिलावासियों के लिए बहुत लाभदायक होगा. फिलहाल उत्तर बिहार के हज यात्रियों या आम लोगों को घरेलू या अंतरराष्ट्रीय उड़ान पकड़ने के लिए पटना जाना पड़ता है. स्थानीय लोगों में एयपोर्ट को लेकर खुशी का माहौल है. दरभंगा एयरपोर्ट की शुरुआत उड़ान योजना के तहत की जा रही है. केंद्र की मोदी सरकार ने छोटे शहरों को हवाई संपर्क से जोड़ने के लिए उड़ान (UDAN) योजना की शुरुआत की है. UDAN योजना का पूरा नाम है- उड़े देश का आम नागरिक. इस योजना का मकसद छोटे शहरों में सस्ती हवाई सेवा उपलब्ध कराना है. इसके तहत टियर 2 और टियर 3 शहरों में एयरपोर्ट विकसित किए जा रहे हैं.