कब्र से आई रोने की आवाज, चल रही थी नवजात की सांसे

NEW-BORN-BABY
NEW-BORN-BABY
Advertisement

गोपालगंज सदर अस्पताल में एक डॉक्टर की एैसी लापरवाही सामने आई है कि जानकर आप दंग रह जाएंगें. एक डॉक्टर ने नवजात शिशु को मृत्य घोषित कर दिया . जब परिवार वाले बच्चे को मिट्टी से दफन कर दिया तो उसके बाद बच्चे की कब्र से रोने की आवाज सुनाई देने लगी.

बच्चे की रोने की आवाज को सुनकर परिजन घबरा गए और जल्दी से मिट्टी हटाकर उसको बाहर निकाला और सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में उसको भर्ती किया. लेकिन बच्चे की शरीर से ज्यादा रक्त बहाव हो गया था इसलिए उसकी मौत हो गई. घटना सदर अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड की है.

बच्चे की माता पिता और उसकी दादी का आरोप है कि डॉक्टर के लपरवाही के कारण बच्चे की मौत हो गई. मृतक बच्चे के पिता का नाम नीरज कुमार है वह अपनी पत्नी के प्रसव के बाद मंगलवार को बच्चे को सदर अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में भर्ती किया. उसके बाद ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर कृष्णा कुमार ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया. परिजन घर लाकर बच्चे को दफन कर दिये इसके बाद रोने की आवाज आने लगी.

आक्रोशित परिजनों ने डॉक्टर के खिलाफ कारवार्ई की मांग की उनसे मिलने सीएस डॉ अशोक कुमार चौधरी पहुंचे कापी आक्रोश का सामना करना पड़ा. सीएस डॉ अशोक कुमार चौधरी ने बताया कि डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित नहीं किया था. ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने बच्चे को पीएमसीएच के लिए रेफर कर दिया था. लेकिन परिजन उसे मृत समझकर वापस घर लेकर चले गए. सीएस ने कहा की जिन्दा दफ़न करने की बाद सही नहीं है. यह लोगों का भ्रम है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here