विद्यालय कक्ष में खुलेआम बिक रही गुटखा एवं किराना दुकान के सामान !

sheohar
Advertisement

शिवहर जिले में विद्या के मंदिर विद्यालय में अब गुटका सहित किराना दुकान के सामानों की बिक्री खुलेआम की जा रही है। शिक्षा विभाग का लचीलापन व्यवस्था देखकर आप भी चकरा जाएंगे। जहां बच्चों को संस्कार दिया जाता है उसी विद्यालय में गुटका बेचा जा रहा है। यही नहीं गुटखा के साथ-साथ किराना दुकान भी चलाया जा रहा हैं। लोगों को अब सामान खरीदने के लिए बाजार या हाट में नहीं जाना पड़ता है बस पढ़ाई के साथ-साथ किराना दुकान की भी शायद शिक्षा दी जा रही है। मामला है राजकीय मध्य विद्यालय छतौनी तरियानी का। वजाबते तरियानी प्रखंड क्षेत्र के राजकीय मध्य विद्यालय छतौना में विद्यालय के एक कक्ष में खुलेआम किराना दुकान चलाया जा रहा है यही नहीं उस दुकान में गुटका भी बड़े ही आराम से बेचा जा रहा है

 

गौरतलब है कि विद्यालय प्रधानाध्यापक सुजाता सिंह की मिलीभगत से शिक्षा विभाग के नियमों को ताक पर रखकर तथा विद्यालय के नियमों को खिल्ली उड़ाते हुए विधिवत विद्यालय के एक कक्ष में ग्रामीण मुन्ना सिंह के द्धारा किराना दुकान चलाया जा रहा है।

इस बाबत कई ग्रामीणों ने बताया है कि विद्यालय में बच्चों को पढ़ने के लिए भेजूं या किराना दुकान का सामान खरीदने के लिए भेजूं समझ में नहीं आ रहा है विद्यालय में तकरीबन 350 बच्चे का पठन-पाठन दिया जा रहा है यही नहीं उसी विद्यालय कैंपस में आवासीय कस्तूरबा गांधी विद्यालय चलाया जा रहा है। कई अभिभावकों ने रोष जताते हुए बताया है कि उक्त विद्यालय में कहीं बच्चे गुटखा खरीदकर खाते होंगे जिसकी आशंका लगी रहती है। प्राप्त जानकारी के अनुसार राजकीय मध्य विद्यालय छतौनी तरियानी के विद्यालय सचिव के पद पर मंजू देवी है। तथा  सचिव मंजू देवी के पति सिंह के द्वारा विद्यालय के एक कक्ष में किराना दुकान किया जा रहा है जहां सामान खरीदने वालों की भीड रहती है वैसे में पढ़ाई की व्यवस्था कैसे सुदृढ़ होगी ।

ये भी पढ़े  छह दिवसीय आशा प्रशिक्षण में आशा कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

 

sheohar

जिला शिक्षा पदाधिकारी मोहम्मद मसलेउद्दीन ने बताया है कि अगर ऐसा है तो प्रधानाचार्य पर कार्रवाई की जाएगी। प्रधानाचार्य किसके अनुमति से विद्यालय में किराना दुकान चलाने के लिए अनुमति दी है जबकि विद्यालय की सारा जवाबदेही प्रधानाचार्य की होती है।

जबकि मुन्ना सिंह ने बताया है कि आंधी पानी में मेरा दुकान क्षतिग्रस्त हो गया था इसीलिए इस स्कूल के भवन में मजबूरन किराना दुकान चला रहे हैं बन जाने के बाद स्वत: चले जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here