छह दिवसीय आशा प्रशिक्षण में आशा कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

Asha-Karyakarta
Advertisement

सरोजा सीताराम सदर अस्पताल में छह दिवसीय आशा कार्यकर्ताओं का आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में आशा कार्यकर्ताओं को खाना पीना सही समय से नहीं देने तथा सर-सफाई नहीं होने पर आशा कार्यकर्ताओं ने चुप्पी तोड़ते हुए वरीय पदाधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया है। आशा कार्यकर्ताओं ने बताया है कि छह दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान आज तीन दिन होने को है जिसमें 2 दिनों तक चाय-नाश्ता नहीं दिया गया तथा खाना भी सही तरीके से नहीं दिया जा रहा है। जबकि आशा कार्यकर्ताओं को तीन प्रशिक्षकों के द्वारा महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा को रोकने के लिए कानूनी उपाय ,मलेरिया एवं मलेरिया की पहचानल टीबी की पहचान, कालाजार तथा कुपोषण, परिवार नियोजन, प्रजनन तंत्र संक्रमण एवं यौन रोग पहचान से प्रबंधन सहित कई महत्वपूर्ण विषयों पर प्रशिक्षण दी जा रही है।

Asha-Karyakarta
Asha-Karyakarta

आशा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि डैम के द्वारा घटिया खाना परोसा जा रहा है जबकि प्रत्येक आशा कार्यकर्ताओं को 200 प्रतिदिन रहने और खाने की लिए सरकार द्वारा आवंटित है परंतु 50 रूपया का खाना भी पूरे दिन में नसीब नहीं हो रहा है। आशा कार्यकर्ताओं ने एक स्वर से प्रभारी जिला सामुदायिक उत्प्रेरक सुनील कुमार को प्रशिक्षण में बुलाने की मांग की है। जबकि जिला स्वास्थ्य समिति के लेखा प्रबंधक संजीव कुमार ने बताया है कि आशा कार्यकर्ताओं को समुचित व्यवस्था की गई है जो संसाधन सरकार के द्वारा दिया जा रहा है उसी में उनको हरसंभव पूर्ण व्यवस्था कराई जा रही है।

ये भी पढ़े  नदी में तबदील हुआ कहतरवा रोड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here